फेसबुक पर परिजन ने लिखा- चार दिन हंसा के जिंदगीभर के लिए रुला गई तू… I MISS U, क्यों किया बेटू ऐसा

287
Dhar Madhya Pradesh News in Hindi: 20 year old girl commit suicide,Madhya Pradesh, Indore, Orchha

घरवालों ने एक जिद पूरी नहीं की तो बेटी ने कर लिया सुसाइड, आखिरी फेसबुक पोस्ट में लिखा था- जन्म मिले उस आंगन में जहां सदा जले श्याम की ज्योत

फेसबुक पर परिजन ने लिखा- चार दिन हंसा के जिंदगीभर के लिए रुला गई तू… I MISS U, क्यों किया बेटू ऐसा

धार (मध्य प्रदेश) चार दिन हंसा के जिंदगीभर के लिए रुला गई, क्यों किया बेटू ऐसा, आई मिस यू, अभी तो मिले, ठीक से बात भी नहीं की तुझसे। ये करुण पंक्तियां मेघा डोड ने अपनी फेसबुक वॉल पर अपनी रिश्तेदार शहर की कॉलेज छात्रा तृप्ति के लिए लिखी हैं। तृप्ति ने रविवार को जहरीला पदार्थ खाकर सुसाइड कर लिया था। तृप्ति नगर पालिका में सभापति बंटी डोड की चचेरी बहन और कांग्रेस नेता राकेश डोड की भतीजी थी। फिलहाल उसने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया इसे लेकर परिजन भी कुछ बता नहीं पा रहे हैं।

विश्वास नहीं हो रहा वह ऐसा कर लेगी
पुलिस के अनुसार- प्रथम दृष्टया नई गाड़ी की मांग पूरी न होने के कारण ऐसा करना सामने आ रहा है। इधर परिजन का कहना है कि दशहरे पर ही नई गाड़ी दिलवाई थी, जिसे तृप्ति बदलना चाहती थी, लेकिन इतनी सी बात के लिए वह ऐसा कर लेगी हमें विश्वास नहीं होता है।

यह भी पढ़ें :- 15 साल की स्टूडेंट को कोल्ड ड्रिंक पिलाकर किया बेहोश, फिर एक्स ब्वॉयफ्रेंड ने दो दोस्तों के साथ किया रेप

शहर के मलूशिया बावड़ी निवासी 20 वर्षीय तृप्ति ने रविवार शाम को घर पर ही जहरीला पदार्थ खा लिया। तबीयत बिगड़ने पर परिजन उसे एक निजी अस्पताल ले गए। यहां उसकी नाजुक हालत को देखते हुए उसे डॉक्टरों ने तत्काल इंदौर एमवाय के लिए रैफर कर दिया। बताया जाता है कि इंदौर पहुंचने के पहले उसकी मृत्यु हो गई। बावजूद इसके परिजन उसे लेकर एमवाय पहुंचे। यहां डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजन उसे लेकर रात करीब 11.30 बजे धार लौटे और जिला अस्पताल में शव को रखवाया। सोमवार सुबह उसका पीएम किया गया। दोपहर में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

नई गाड़ी लेना चाहती थी
नपा के सभापति बंटी डोड ने बताया कि छह महीने पहले दशहरे पर ही उसे नई मेस्ट्रो गाड़ी दिलाई थी। तृप्ति उसे बदलना चाहती थी। जहां से गाड़ी ली थी शोरूम वाले ने भी उसे समझाया था कि यह अच्छी गाड़ी है, दूसरी गाड़ियां इससे हल्की है। लेकिन वह दूसरी गाड़ी लेना चाहती थी, संभवत: एक्टीवा लेना चाहती थी।

फेसबुक स्टेटस में लिखा जन्म मिले उस आंगन में सदा जले श्याम की ज्योत
तृप्ति धार्मिक विचारों की लड़की भी थी। उसने श्याम की मूर्ति के साथ अपना फोटो भी फेसबुक पर डाला था। साथ ही तृप्ति ने अपने फेसबुक स्टेटस पर लिखा है कि ना मांगू मैं महल, दुमहले ना बंगला ना कोठी, जन्म मिले उस आंगन में सदा जले श्याम की ज्योत, जय श्रीराम। 7 जनवरी को उसका जन्मदिन था, जबकि 7 अप्रैल को ही उसने आत्मघाती कदम उठा लिया। अंतिम बार फेसबुक अपडेट 22 मार्च को होली के फोटो के साथ किया था।

पिता का बचपन में हो गया था निधन
तृप्ति के बचपन में उसके पिता का निधन हो गया था, उसकी माता शहर में हार-फूल की दुकान लगाती हैं। कॉलेज में बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा थी।

यह भी पढ़ें :- मां ने किया बेटी का सौदा, सर मुझे बचा लीजिए वो…

यह भी पढ़ें :- महिला वकील को पीटा, जबरन पिलाई शराब और किया रेप, चैंबर…


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें