टीचर ने कहा- वो तो टॉपर स्टूडेंट थी, फिर ऐसा क्यों किया…

57
Chhatisgarh news in hindi,Rajnandgaon News,Rajnandgaon samachar,Chhatisgarh News,Chhatisgarh samachar,Chhatisgarh news in hindi,aajtak live Chhatisgarh news - Rajnandgaon News ,राजनांदगांव न्यूज़,राजनांदगांव समाचार,आजतक लाइव,आजतक लाइव इ पेपर - news,news in hindi,epaper bhaskar,15 year old commit suicide,exam pressure,board exams,depression,students in stress,rajnandgaon,chhattisgarh

सुबह हिंदी का पेपर, रात में पढ़ाई के बाद सोते वक्त 10th की छात्रा ने कहा- पापा, सुबह सेंटर पर छोड़ देना, और गुडनाइट कहकर सो गई…, सुबह जगाने पहुंचे तो चीख पड़े वो

प्राचार्य ने कहा – स्कूल की होनहार छात्रा, हमेशा टॉप पर रही, मां बोली- रात में खाना भी कम खाया था उसने

राजनांदगांव (छत्तीसगढ़) दसवीं की छात्रा मनीषा साहू (15) ने परीक्षा के ऐन पहले फांसी लगा ली। सुबह जब पिता ने मनीषा के कमरे का दरवाजा खोला तो वह फंदे पर लटकी हुई थी। सुसाइड नोट भी बरामद नहीं हुआ है। बीते 15 दिन से स्कूल न जाकर परीक्षा की तैयारी कर रही थी। शुक्रवार को दसवीं के हिंदी का पर्चा होना था, सुबह 9 बजे से परीक्षा शुरू होनी थी, रात में जब मनीषा की अपने पिता डुरूराम से बात हुई तो 8 बजे केंद्र के लिए निकलने की बात कही। सुबह करीब 7 बजे मनीषा के पिता डूरुराम परीक्षा केंद्र छोड़ने कमरे में गए तो कुंडी भीतर से लगी थी, जिसे हाथ डालकर खोला। दरवाजा खोलते ही पिता की चीख निकल पड़ी।

यह भी पढ़ें :- शहीद वायुसैनिक के सवा साल के बेटे ने दी मुखाग्नि, नम…

मनीषा को हर विषय में अर्धवार्षिक परीक्षा में भी बेहतर अंक मिले थे
– मचानपार स्कूल के प्रभारी प्राचार्य डीआर जंघेल के मुताबिक- मनीषा अपने क्लास की टॉपर स्टूडेंट थी। वह हर साल अपने कक्षा में पहले या दूसरे स्थान पर आती थी। ऐसे में परीक्षा को लेकर तनाव और इतना बढ़ा कदम उठाना अविश्वसनीय है। प्रवेश पत्र वितरण के बाद अन्य विद्यार्थियों की तरह वह भी 15 दिन से घर में ही परीक्षा की तैयारी कर रही थी।

– मनीषा के पिता ने बताया- उसने कभी भी परीक्षा का तनाव नहीं लिया था, हमेशा पूरा मन लगाकर पढ़ाई करती थी। वैसे भी शुक्रवार को हिंदी का पेपर होना था, जिसकी तैयारी उसने पूरी होने की बात कही थी। रात में बातचीत करते वक्त बताया था कि हिंदी में उसे अच्छे नंबर मिलेंगे, उसने हर चेप्टर को बेहतर ढंग से तैयार किया है। इधर मनीषा की मां ने बिलखते हुए बताया कि सुबह जल्दी उठने की बात कहकर उसने खाना भी कम खाया था।

यह भी पढ़ें :- पुलवामा हमला: बिहार के बांका से जुड़ें तार, एक संदिग्ध हिरासत…

दो भाइयों की अकेली बहन
– मनीषा साहू के पिता डुरु प्राइवेट ड्राइवर है। वहीं मनीषा अपने दो छोटे भाइयों की इकलौती बहन है। ऐन परीक्षा के दिन मनीषा की आत्महत्या को परीक्षा के तनाव से जोड़कर ही देखा जाता रहा, लेकिन उसके स्कूल रिकाॅर्ड और पिछली कक्षाओं की मार्कशीट इस आशंका को सिरे से खारिज कर रही है।

– मनीषा साहू की आत्महत्या के बाद तुमड़ीबोड़ पुलिस ने उसका कमरा सील कर दिया है। परिवार में मातम और बार-बार बेसुध हो रहे परिजनों के चलते पुलिस किसी का बयान नहीं ले पाई है। पुलिस ने मनीषा के पिता से बात की, लेकिन उन्होंने भी आत्महत्या को लेकर कुछ भी आशंका नहीं होने की बात कही है।

यह भी पढ़ें :- युवती ने यूं रचा था मौत का जाल 20 हजार रुपए…

यह भी पढ़ें :- Tata Sky ने मल्टीपल टीवी कनेक्शन लेने वाले यूजर्स को दी…

यह भी पढ़ें :- 14 माह की बेटी की चीख, भागकर पहुंची तो नहीं थे…


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें