1984 सिखों ने नरसंहार मामले में सोनिया गाँधी से पूछताछ की मांग, हो सोनिया का लाइ डिटेक्टर टेस्ट

19
Sonia Gandhi 1984 Sikh Riots,1984 Sikh Riots

तब राजीव गाँधी इंदिरा के बाद सीधे PM बन गया था, और सिखों के नरसंहार को बिलकुल बढ़िया बताते हुए राजीव गाँधी ने कहा था की, अदा पेड़ (इंदिरा) गिरता है तो धरती हिलती है, यानि सिख मारे जा रहे है तो ये बिलकुल जायज है दंगों का पूरा काम राजीव गाँधी के देखरेख में होता था, और दंगे दिल्ली के अलावा देश के कई अन्य इलाकों में भी कांग्रेसियों द्वारा किये गए थे, सत्ता में कांग्रेस रही, इस मामले में न्याय नहीं हुआ, पर मोदी ने इस मामले में SIT बनाई

अभी हाल ही में पटियाला हाउस कोर्ट ने सिखों ने नरसंहार मामले में 2 को सजा दी है जिसमे से 1 को फांसी की सजा और 1 को उम्रकैद की सजा सुनाई गयी है

अब इस मामले में सिखों को न्याय मिलने की शुरुवात हो गयी है, और इसी बीच अकाली दल ने 1984 दंगो के मामले में सोनिया गाँधी से भी पूछताछ की मांग कर दी है अकाली दल का कहना है की सोनिया गाँधी भी सिखों के नरसंहार में शामिल थी, सुखबीर बादल ने मांग करी है की SIT जो इस मामले की जांच में लगा हुआ है वो सोनिया गाँधी से भी पूछताछ करे साथ ही सुखबीर बादल ने सोनिया गाँधी के लाइ डिटेक्टर टेस्ट की भी मांग कर दी है यानि झूठ पकड़ने वाली मशीन से सोनिया गाँधी का टेस्ट किया जाये

जब सिखों के खिलाफ दंगे किये जा रहे थे, तब राजीव गाँधी के साथ सोनिया गाँधी भी थी, और सोनिया गाँधी ने सबकुछ अपनी आखों से देखा होगा, चूँकि वो राजीव गाँधी के साथ ही रहती थी, ऐसे में सोनिया गाँधी अच्छे से जानती है की किसने दंगे करवाए, कौन कौन शामिल था ऐसे में सुखबीर बादल की मांग एकदम जायज है, इस मामले में हजारों सिख परिवार आज भी न्याय की आस लगाये बैठे है और उनको न्याय मिले इसके लिए सोनिया गाँधी से पूछताछ होनी ही चाहिए