वाराणसी हादसा: मंगल हुआ अ’मंगल’, 48 घंटे के भीतर पकड़े जाएंगे दोषी

0
148
flyover incident

नई दिल्ली/वाराणसी: वाराणसी में मंगलवार को उस वक्त अ’मंगल’ साबित हुआ, जब लोहे और सीमेंट का बना हजारों टन वजनी स्लैब नीचे गिरा और लोगों को जान बचाने का मौका भी नहीं मिला. फ्लाईओवर के नीचे से जा रहे लोगों को किसी भी तरह का अंदाजा नहीं था कि एक झटके में कितनी बड़ी तबाही आने वाली है. मंगलवार के शाम 5.45 मिनट का समय था और वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन के पास तीन साल से बन रहे फ्लाईओवर का एक हिस्सा भड़भड़ाकर नीचे गिर गया. चारों तरफ हाहाकार मच गया. कुछ लोगों की सांसे वहीं थम गई तो कुछ मदद की गुहार लगा रहे थे. हादसे में 15 लोगों की मौत की खबर है, जबकि करीब 25 लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे है. पीएम मोदी और प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर गहरा दुख जताया है और सरकार ने जांच के लिए कमेटी का भी गठन कर दिया है.
Advertisement





PM ने जताया दुख
वाराणसी हादसे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा दुख जताया है. हादसे की सूचना के बाद उन्होंने सीएम योगी से बात की और हर संभव मदद देने का भरोसा दिया है.
48 घंटों के अंदर दोषी होंगे चिन्हित
वहीं मामले की जांच के लिए उच्चस्तरीय जांच कमेटी बना दी गई है. इसमें एपीसी की अगुवाई में प्रमुख अभियंता एवं विभागाध्यक्ष सिंचाई विभाग और एमडी जल निगम को रखा गया है. ये कमेटी 48 घंटे के अंदर जांच कर दोषियों को चिन्हित करेगी. उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा.
Advertisement





सरकार ने की मुआवजे की घोषणा
हादसे के बाद मुख्यमंत्री ने गहरा दुख जताया है. सरकार ने हादसे के बाद मुआवजे की भी घोषणा की है. हादसे में मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा, वहीं घायलों को नियमानुसार दो-दो लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा. सीएम ने दुख जताते हुए कहा, इस दुख की घड़ी में हमारी सरकार वाराणसी के जनता के साथ है.
सिर्फ मुआवजा नहीं जांच भी जरूरी: अखिलेश
वाराणसी हादसे को लेकर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने दुख जताया है. और ट्वीट कर सपा कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे बचाव दल का पूरा सहयोग करें. ट्वीट कर उन्होंने बीजेपी सरकार से कहा है कि वो इस हादसे में सिर्फ मुआवजा देकर अपनी जिम्मेदारी से नहीं भागे, घटना की जांच करवाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here