रोने की आवाज सुन राहगीरों की नजर पड़ी, 5 घंटे से नहीं पिया था दूध

0
230
Surat News: Newborn baby left on the road in winter,Udhna, Surat

सूरत. उधना में मंगलवार सुबह आठ बजे एक नवजात बच्ची लक्ष्मीनारायण मंदिर के सामने सर्विस रोड पर मिली। नवजात को इलाज के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया। राहगीरों की नजर बच्ची पर तब पड़ी, जब उसकी रोने की आवाज सुनाई दी। जब पास जाकर देखा तो एक चादर में लपेटकर बच्ची को कोई वहां छोड़ गया था। बच्ची के शरीर का निचला हिस्सा काले रंग से रंगा था।

5 घंटे से नहीं पिया था दूध
पुलिसकर्मी बिपिन ने बताया, उसके दोनों पैर काले रंग से रंगे थे। ऐसा तब होता है जब बच्चा अस्पताल में हो और उसके पैरों का छापा लिया गया हो। इसमें किसी भी तरह की तंत्र विद्या नहीं हुई है। ऑन ड्यूटी सीएमओ डॉ. एम चौहान ने बताया, बच्ची चार से पांच दिन की है। पिछले पांच घंटे से उसे दूध नहीं मिला, इसलिए उसे डिहाइड्रेशन की शिकायत थी। बच्ची को तत्‍काल एनआईसीयू में भर्ती कर दिया गया।

अस्पताल में ही जन्मी है बच्ची
बच्ची का जन्म किसी अस्पताल में ही हुआ है, क्योंकि बच्ची की नाभि पर क्लैंप लगा हुआ है। यह क्लैम्प अस्पतालों में ही नाड़ी काटने के बाद लगाया जाता है। इससे यह साफ होता है कि बच्ची का जन्म किसी अस्पताल में ही हुआ है। फिलहाल इलाज किया जा रहा है और अब वह स्वस्थ है। डॉक्टर ने बताया, बच्ची के पैरों में जो काला रंग लगा है, वह ऐसा लगता है कि राख या कोयले से लगा हो। जांच अधिकारी सोनावणे ने बताया, बच्ची के माता-पिता को ढूंढा जा रहा है। जहां पर वो मिली उसके आसपास के इलाके में पूछताछ हो रही है। वहीं अस्पतालों की भी जांच हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here