मेजर नहीं दे पाए शहीद की पत्नी को शहादत की खबर

54
aajtaklives news in hindi,aajtaklives news,hindi news,hindi news,Latest Weird Stories,martyr hameer singh pokhariyal in jammu kashmir

नेशनल डेस्क. सीमा पर जब कोई जवान शहीद होता है तो परिवारवालों पर किस कदर दुखों का पहाड़ टूट पड़ता है उसकी झलक ऋषिकेश के गुमानीवाला में रहने वाले राइफल मैन हमीर सिंह पोखरियाल के घर देखने को मिली। हमीर सिंह जम्मू-कश्मीर के बांदीपुरा में शहीद हो गए। जब से ये खबर उनके घर पहुंची है परिवारवालों समेत पूरा गांव शोक में डूब गया है। खबर सुनते ही बेहोश हो गई प्रेग्नेंट पत्नी…   
 
खबर सुनते ही बेहोश हो गई प्रेग्नेंट पत्नी : पति के शहीद होने की खबर प्रेग्नेंट पत्नी बेहोश होकर वहीं गिर पड़ी। कुछ देर बाद होश आया लेकिन अब उसका रो-रोकर बुरा हाल है। शहीद की ढाई साल की बेटी है। जो शायद अभी समझ भी नहीं पा रही होगी कि उसके घर में अचानक क्या हुआ कि मां समेत बाकी लोग रो रहे हैं। परिवारवालों ने बताया कि दो दिन पहले ही हमीर ने मां-पिता और पत्नी से बात की थी।

मेजर नहीं बता पा रहे थे शहीद होने की खबर : 7 अगस्त को सुबह 10 बजे जम्मू से मेजर ने फोन किया। घर पर शहीद की पत्नी पूजा ने फोन रिसीव किया। मेजर की हिम्मत नहीं हो रही थी कि वो पत्नी को ये खबर दें। उन्होंने पूछा कि आपके ससुर कहां हैं। शहीद की पत्नी ने कहा कि वो अमरनाथ यात्रा में तैनात हैं। अधिकारी ने सास के बारे में पूछा तो पूजा ने कहा कि वो सत्संग में गई हैं। पूजा ने कहा कि जो बताना है मुझे बताइए, तब मेजर ने कहा कि वो उसे नहीं बता सकते हैं। ये सुनकर पूजा ने अपने को फोन दिया। तब जाकर मेजर शहीद होने की खबर दे पाए।

साल 2010 में गढ़वाल राइफल में हुए थे भर्ती : शहीद के भाई सुनील ने बताया कि हमीर पिछले साल दिसंबर में घर आए थे। वो 2010 में 12 गढ़वाल राइफल में भर्ती हुए थे। हमीर के पिता एसएसबी में सब इंस्पेक्टर हैं। इसके अलावा चाचा शैलेंद्र सिंह गढ़वाल राइफल असम में तैनात हैं। जबकि दूसरे चाचा आलेंद्र सिंह जम्मू में ही तैनात हैं।