बेटे की लाश देख उसे झकझोर कर उठाती रही बदहवास मां

25
Two Student Drowned in Canal in Kanpur

कानपुर. बिधनू थाना क्षेत्र में रामगंगा नहर में नहाने आए तीन दोस्तों में से दो की डूबने से मौत हो गई। बुधवार को नहाते हुए तीनों गहरे पाने में चले गए, जिसमें दो दोस्त डूबने लगे तो तीसरा किसी तरह जान बचाकर नहर के किनारे आ गया। इसके बाद उसने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों की मदद से दोनों छात्रों के शव बाहर निकलवाए।

– बिधनू थाना क्षेत्र स्थित कल्यानिपुरवा गांव से होकर बहने वाली रामगंगा नहर उफान पर है। बर्रा आठ के रहने शशांक, उत्कर्ष और कृष्णकांत ने नहर में नहाने का प्लान बनाया था।
– तीनों एक साथ नहर में उतरे थे। नहाते वक्त कृष्णकांत और उत्कर्ष की डूबने से मौत हो गई। वहीं, शशांक ने किसी तरह अपनी जान बचा ली। मृतक कृष्णकांत नीट की तैयारी कर रहा था। जबकि उत्कर्ष 12th का छात्र था।

दोनों अपने-अपने घर के इकलौते बेटे थे
– जब उनकी मौत की खबर परिवार को पता चली, तो कोहराम मच गया। उत्कर्ष की मां बेटे की लाश देख उसे जगाती रही। बदहवास हालत में कहती रही एक ही बात- एक बार उठ जा मेरे लाल, देख तेरी मां तुझे जगा रही है। जब बेटा नहीं उठा तो गुस्से में उत्कर्ष की मां ने जिंदा बचे शशांक की पिटाई कर दी। कहने लगी- यही मेरे बेटे को घर से लेकर गया था।
– वहीं, कृष्णकांत तीन बहनों में अकेला था। पिता अनिल नायक एक प्राइवेट फैक्ट्री में मैनेजर हैं। बेटे की मौत से सदमे में हैं। वहीं, मौत की खबर सुनते ही बहन बेहोश हो गई। होश में आते ही से पूछने लगी- अब मैं किसे राखी बांधूंगी पापा। यह मार्मिक दृश्य देख वहां मौजूद हर कोई रो पड़ा।

आए दिन हो रहे हादसे
– पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। रक्षाबंधन से पहले हुई मौत से दोनों परिवारों में मातम छाया हुआ है।
– गांव वालों का कहना है, शहर से रोजाना दर्जनों लड़के कार और बाइक से यहां आते हैं। वो पहले यहां नशा करते हैं फिर इस नहर में नहाते हैं। आए दिन कोई न कोई हादसे का शिकार हो रहा है।