प्रेमी जोड़े ने ट्रेन से कटकर दे दी जान; मौत को गले लगाने से पहले लिखा- ‘कुंवारा समझकर हमें दफना मत देना..

89
burhanpur news: fear of defamation couple Jumped ahead of train and ended life in shirdi,burhanpur, Shirdi, Pune

बुरहानपुर आठ दिन पहले गांव से भागे प्रेमी युगल ने बदनामी के डर से सोमवार रात 11 बजे शिर्डी रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन से कट कर आत्महत्या कर ली। प्रेमी के दोस्तों को दोनों के पास से चार पन्नों का एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें उन्होंने आत्महत्या की पूरी कहानी लिखी है। इसमें यह भी लिखा है कि हमारे मरने के बाद किसी को प्यार करने से रोकना मत।

चौंडी निवासी प्रियंका भावसा के स्कूल में कक्षा 12वीं की छात्रा थी। उसके युवक राधे के साथ जाने के बाद प्रियंका को उसकी सहेली ने फोन कर बताया था कि गांव में उनके भागने की खबर फैल गई है। इसी बदनामी के डर से दोनों ने शिर्डी पहुंचकर ट्रेन से कट कर आत्महत्या कर ली। बताते हैं यहां दोनों ने शादी भी कर ली थी। प्रियंका के पिता चौंडी के ही स्कूल में पढ़ाते हैं। वहीं राधे के पिता का निधन हो चुका है। वह पुणे के एक होटल में वेटर था। मंगलवार को दोनों के परिजन शिर्डी रवाना हुए। देररात को शव गांव लाए।

फेसबुक पर 4 पेज का सुसाइड नोट और फोटो अपलोड कर यह लिखा…
प्रियंका ने पिता के लिए लिखा है कि 9 साल से हमारा प्रेम-प्रसंग चल रहा था। पढ़ाई खत्म होने पर हम शादी करने वाले थे। 18 दिसंबर को राधे के साथ सगाई के लिए इच्छादेवी मंदिर पहुंची। इसके बाद हम दोनों घर लौटने वाले थे। इससे पहले स्कूल की लड़कियों ने घर पर यह बात बता दी। भाई सौरभ ने स्कूल पहुंचकर मेरे बारे में पूछताछ की। गांव में भी सबको पता चल गया था कि हम दोनों गायब हैं। गांव में सारी बदनामी हो गई थी। घर जाते तो मेरी स्कूल छुड़वा देते। मुझे राधे से अलग कर देते और मुझे भी कहीं भिजवा देते। हम दोनों एक-दूसरे के बिना नहीं रह सकते। इसलिए उसी दिन भाग गए थे। हम नहीं चाहते थे हमारी वजह से परिवार को नीचा देखना पड़े। हम पहले ही फैसला कर चुके थे कि मर जाएंगे। हमारे मरने से परिवार की इज्जत बनी रहेगी। हम दोनों की यह गुजारिश है कि किसी को कुछ मत कहना। यदि आप लोगों ने किसी को तकलीफ दी तो हमारी कुर्बानी व्यर्थ जाएगी। आखिरी इच्छा है कि मरने के बाद हम दोनों को अलग मत करना। हम दोनों को एक साथ जला देना। कुंवारा समझकर हमें दफना मत देना, क्योंकि हमें हल्दी लग चुकी है। इस कहानी में किसी दोस्त का हाथ नहीं है। हमारे मरने के बाद कोई किसी को प्यार करने से रोकना मत, क्योंकि ये कहानी दोबारा कोई ने दोहराना नहीं चाहिए। राधे ने भी अपने बड़े भाई से माफी मांगी और लिखा है कि मैं प्रियंका के बिना नहीं रह सकता था। आपको नीचा नहीं देखना चाहता। इसलिए हम ये कदम उठा रहे हैं। उन्होंने यह सुसाइड नोट और फोटो फेसबुक पर भी पोस्ट किए।

संजलि कांड में बड़ा खुलासा, चचेरा भाई ही निकला कातिल, खुद भी दी जान


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें