पहली बार सहेली से मांगी थी लिफ्ट, स्कूटी हुई स्लिप और डंपर के पहिए के नीचे आया लड़की का सिर

96
girl death in accident

भिलाई-दुर्ग( छत्तीसगढ़)। रोजाना ऑटो में बैठकर कोचिंग से क्लिनिक पर काम पर जाने वाले युवती ने पहली दफा सहेली गीतिका नायक से उसकी स्कूटी पर लिफ्ट मांगी थी। लेकिन उसे क्या पता था कि ये उसकी आखिरी सवारी बन जाएगी। गुडलेश पासवान हादसे का शिकार हो गई। मंगलवार सुबह गुडलेश कोचिंग गई थी। वह आर्ट्स की कोचिंग जाती थी।अचानक गाड़ी से अनियंत्रित होकर दोनों ही युवती गिर गए और गुडलेश का सिर डंपर के पहिए के नीचे आ गया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद डंपर चालक फरार हो गया। भिलाई नगर पुलिस ने उसे देर शाम गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ मामला दर्ज हो गया है।

3 बहनों में सबसे बड़ी थी गुडलेश
मृतिका के परिजनों के मुताबिक मूलतः गोरखपुर के हैं। गुडलेश तीन बहनों में सबसे बड़ी और जिम्मेदार थी। गुडलेश भिलाई के सेक्टर92 में अपनी बहन और दामाद के साथ रहती थी। वह सेक्टर94 स्थित डेंटल डॉक्टर की क्लीनिक में जॉब करने के साथ साथ रिसाली में कोचिंग भी कर रही थी। मृतका के माता-पिता व छोटी बहन गोरखपुर में ही रहते है। घटना की सूचना उन्हें दे दी गई है।

चार दिन पहले ही आर्ट्स के लिए ज्वाइन की कोचिंग, हमेशा ऑटो से जाती थी
पुलिस ने बताया कि मंगलवार सुबह 10.30 बजे सेक्टर-2 निवासी 26 वर्षीय गुडलेश पासवान रिसाली स्थित फेस इंस्टिट्यूट में पढ़ाई करने गई थी। चार दिन पहले उसने कोचिंग ज्वाइन की थी। कोचिंग के बाद गुडलेश सेक्टर-4 स्थित डेंटल डॉक्टर के यहां नौकरी करने जाती थी। आमतौर पर युवती ऑटो से ही कोचिंग से सेक्टर-4 जाती थी। लेकिन मंगलवार को उसने अपनी सहेली से लिफ्ट मांग ली।

अचानक सामने आई गाड़ी इसलिए ब्रेक, दोनों गिरे
प्रगति नगर रिसाली में कोचिंग से निकलकर गुडलेश गीतिका की एक्टिवा (सीजी07 एजेड 0251) में पीछे बैठकर जा रही थी। डीपीएस चौक पहुंचते ही अचानक सामने से गाड़ी आ गई। गीतिका हड़बड़ा गई। ब्रेक लगाई तो दोनों गिर गए। गीतिका गाड़ी की एक तरफ गिरी और गुडलेश सड़क की तरफ। गुडलेश की हाइट अधिक होने की वजह से उसका सिर बोरिया गेट की तरफ से आ रहे (सीजी 07 सी 8908) के पहिए में आ गई।

गोरखपुर से आई थी से-2 क्लिनिक में करती थी जॉब
भिलाई नगर टीआई गौरव तिवारी ने बताया कि गुडलेश का मूल घर गोरखपुर उत्तरप्रदेश है। उसके माता-पिता व परिवार गोरखपुर में ही रहते हैं। गुडलेश भिलाई में सेक्टर-4 स्थित डॉक्टर भूषण के क्लीनिक में काम करती थी। यहां से अपने घर गोरखपुर पैसे भी भेजती थी। मृतका के शव को दुर्ग मरच्यूरी में रखा गया है। वहीं, देर शाम जोरा तराई निवासी आरोपी डंपर ड्राइवर अमूल साहू को भी पकड़ लिया गया। 304ए के तहत जुर्म दर्ज हुआ है।