पति बोला- वो जिद पर अड़ी हुई थी, मैंने हां भी कह दिया था लेकिन ये उसने क्या कर लिया

23
aajtaklives news, news in hindi, hindi news, Jalandhar News, women jumped in front of train and commit suicide,Jalandhar, Anita Rani, Master of Education, Firozpur

पति ने एक डिमांड पूरी नहीं की तो चलती ट्रेन के आगे खड़ी हो गई महिला; ड्राइवर ने हार्न भी बजाया लेकिन नहीं हटी और दे दी जान, रुमाल-चप्पल देख पति बोला- ये तो मेरी वाइफ है

जालंधर। जालंधर-फिरोजपुर रेल ट्रैक पर शीतल नगर के पास सुबह कमल सचदेवा की 31 साल की बेटी ईशा ने मालगाड़ी के आगे खड़ी होकर आत्महत्या कर ली। वह सरकारी कॉलेज में मास्टर ऑफ एजुकेशन (एमएड सेकेंड ईयर) कर रही थी। ईशा की शादी 2 साल पहले न्यू शीतल नगर के रहने वाले तरुण पुरी से हुई थी। पिता कमल सचदेव और भाई राहुल का आरोप है कि ईशा को पति तरुण मानसिक तौर पर तंग करता था।

यह भी पढ़ें : बेटे की मौत की रिपोर्ट लिखवाने को इंस्पेक्टर के पैरों में गिरकर गिड़गिड़ाती रही मां, नहीं पसीजा दिल

पटेल नगर निवासी कमल सचदेव ने कहा कि वे दिलकुशा मार्केट में टी-स्टाल चलाते हैं। उनका एक बेटा राहुल और दो बेटियां है। दामाद तरुण फैक्टरी में जॉब करता है। उसके साथ ईशा का मनमुटाव था। बेटी ट्यूशन पढ़ाने के सिलसिले में रोज घर आती थी। वह दो महीने से परेशानी में थी। शनिवार को राहुल ने कहा कि सुबह करीब 9 बजे जीजा घर में आए और चेक कर चले गए, मगर यह नहीं बताया कि हुआ क्या। कुछ देर बाद पता चला कि दीदी की मौत हो गई।

लोगों ने ट्रेन के नीचे से युवती को बाहर निकाला
चश्मदीद बिट्टू ने बताया कि सुबह करीब 8:45 पर ट्रैक सूट पहने एक युवती शीतल नगर से निकलते रेलवे ट्रैक के पास खड़ी थी। इस बीच फिरोजपुर से जालंधर की ओर आ रही मालगाड़ी का हार्न बजा तो उसे दूर जाने के लिए कहा गया, मगर वह खड़ी रही। ड्राइवर ने ब्रेक लगानी चाही, मगर वह इंजन से टकरा कर ट्रैक पर गिर गई। 108 एबुलेंस आने तक 20 मिनट बीत चुके थे। लोगों ने युवती को ट्रेन के नीचे घुसकर बाहर निकाला। सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में 9:45 बजे उसे मृत घोषित कर दिया गया। मां अनीता रानी ने दामाद तरुण पुरी से कहा कि तुम्हारे कारण उनकी बेटी मर गई।

यह भी पढ़ें : जब 7 टुकड़ों में मिली थी लड़की की लाश, ऐसे हुआ…

पति बोला- लैपटॉप मांग रही थी ईशा… जीआरपी के एसएचओ सतपाल सिंह ने कहा कि घटनास्थल पर न्यू शीतल नगर के रहने वाली तरुण पुरी पहुंचे तो उन्होंने रुमाल और चप्पल देखकर कहा कि- ये उसकी पत्नी के हैं। उन्होंने सिविल अस्पताल में लाश की शिनाख्त की। तरुण ने बताया कि सुबह उठ कर ईशा ने लैपटॉप की डिमांड की। उसने कुछ टाइम बाद लेकर देने की बात कही। इसके बाद वह पड़ोसी के घर जाने की बात कहकर घर से चली गई। पौने घंटे बाद उसे बुलाने गया तो पता लगा कि वहां वह नहीं है। वह मकसूदां चौक के पास पटेल नगर ससुराल घर गया, वहां पर भी ईशा नहीं थी। दोनों में कोई मनमुटाव नहीं था।

यह भी पढ़ें : बरेली: 10 दिन तक 7वीं की छात्रा से किया रेप, फिर…

यह भी पढ़ें : बिहार: 10 साल की बच्ची से कार में सामूहिक दुष्कर्म, 2…

यह भी पढ़ें : लव जिहाद का चौंकाने वाला मामला: अश्लील फोटो खींचकर बर्बाद करनी…


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें