जमीन के नीचे यूं छिपकर रह रहे थे आतंकी, सर्च ऑपरेशन के बाद भी सेना नहीं लगा पाई थी पता

45
3 suspected terrorists with ISIS link and planning operation in Delhi

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में आंतकियों के सफाए को लेकर सेना और पुलिस का ऑपरेशन लगातार जारी है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शनिवार को श्रीनगर से इस्लामिक स्टेट से जुड़े जिन तीन आतंकियों को अरेस्ट किया है, उनके बारे में कई बड़े खुलासे हुए हैं। पता लगा है कि ये एक सेब के बाग में बंकर बनाकर रह रहे थे। इन्होंने सांस लेने के लिए बंकर से ऊपर कई पाइप निकाले गए थे। इस बंकर में जरूरत के सारे सामान थे। इस महीने आर्मी ने दो बार सर्च ऑपरेशन चलाए लेकिन ये बंकर पकड़ में नहीं आया। आर्मी पिछले 11 महीने में 220 आतंकियों का सफाया कर चुकी है।

बंकर बनाकर रह रहे थे आतंकी
– दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की इन्वेस्टिगेशन में पता चला है कि ये अवंतीपुर में एक सेब के बगीचे में रह रहे थे, जहां इन्होंने खाने-पीने का पूरा इंतजाम कर रखा था।
– जमीन के बाहर एक छोटा का होल था लेकिन नीचे पूरा कमरा था। खाना पकाने के लिए इन्होंने बंकर में ही एलपीजी सिलेंडर और गैस चूल्हा लगा रखा था।
– इन्वेस्टिगेशन में ये भी पता चला है कि ये लोग एक दूसरे से फोन पर बात नहीं करते थे। टेलीग्राम और थ्रीमा ऐप के जरिए बात करते थे।
– पुलिस ने बताया कि इन सभी को कोड वर्ड दिए गए हैं। इन्हें खुद भी इस बात का पता नहीं होता कि जिनसे वे बात कर रहे हैं उसकी असली पहचान क्या है।
– पुलिस इनके पास से बरामद किए गए चार मोबाइल फोन और एक वाई-फाई डिवाइस से बाकी कई जानकारियां हासिल करने की कोशिश में लगी है।

दिल्ली पर हमले की थी तैयारी
– इन तीनों आंतिकयों के नाम ताहिर अली खान, हैरिस मुश्ताक खान और आसिफ सुहैल हैं। पुलिस के मुताबिक, ये दिल्ली में हमला करने की फिराक में थे। इनके पास से 3 हैंड ग्रेनेड, दो पिस्टल और 12 कारतूस मिले भी मिले हैं।
– दिल्ली पुलिस ने इसी साल सितंबर में परवेज और जमशीद नाम के आतंकियों को दिल्ली के लालकिले के पास से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस को इन्हीं से इन तीन आतंकियों का क्लू मिला था।
– स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि इन लोगों ने इसी साल जुलाई में सीआरपीएफ कैम्प में हमला किया था। इतना ही नहीं, पिछले साल जम्मू-कश्मीर पुलिस में तैनात एक सब इंस्पेक्टर और सितंबर 2018 में एक सिविलियन को पुलिस को मुखबिर समझ कर मार डाला।