AK-47 से लैस 7 पुलिसवालों पर भारी पड़ा गुंडों का तमंचा जवान के छाती-पेट और कनपटी में लगी थी 3 गोलियां फिर भी वो लड़ता रहा

0
41
patna news, encounter news, martyr in encounter with criminals,The Army, Bihar Police, AK 47, Patna Police

पटना। अपराधियों से लोहा लेते हुए जवान मुकेश कुमार सिंह सोमवार की शाम शहीद हो गए। मुकेश आरा जिले के रहने वाले थे। घटना रामकृष्णा नगर और कंकड़बाग थाने की सीमा पर शाम करीब साढ़े छह बजे हुई। बाइपास से सटे पटना सेंट्रल स्कूल इलाके में कुख्यात उज्ज्वल गिरोह के एकत्र होने की सूचना पुलिस को मिली थी। इसके बाद स्पेशल सेल की टीम अपराधियों को गिरफ्तार करने पहुंची। मुकेश और उसके एक और साथी सिपाही ने उज्जवल और पंडित नाम के गुर्गे को दबोच लिया। तभी उज्ज्वल के दूसरे गुर्गों ने फायरिंग कर दी। मुकेश को छाती, पेट और कनपटी में तीन गोली लगी और उनके गिरफ्त से उज्ज्वल फरार हो गया। वहीं पंडित पुलिस की गिरफ्त में है। लेकिन, सात अपराधी भागने में सफल रहे। मुकेश को पास के ही एक निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

एके 47 से लैस 7 पुलिसवालों पर भारी पड़ा तमंचा
रेड में शामिल एसआई अक्षयवर सिंह के बयान पर कंकड़बाग थाने में उज्ज्वल सहित सात अन्य पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। सिटी एसपी (ईस्ट) आरके भील ने बताया कि उज्जवल लगातार ठिकाना बदल रहा था। सुराग मिलने के बाद टीम उसे पकड़ने गई थी। इसमें 2 अफसर, 1 हवलदार व 4 सिपाही शामिल थे। इसमें कुछ के पास एके 47 भी था। फिर भी पिस्टल से सिपाही की हत्या कर अपराधी फरार हो गया।

राजधानी में बड़ी घटना को अंजाम देने की साजिश रच रहा था उज्ज्वल गिरोह, पिछले दो दिनों से टोह ले रही थी पुलिस
उज्ज्वल पिछले कई दिनों से राजधानी और आसपास के इलाके में सक्रिय था। पुलिस को सूचना थी कि गिरोह बाइपास इलाके में बड़ी घटना को अंजाम देने में जुटा है। पुलिस दो दिनों से उसे तलाश रही थी। सोमवार को उसके पीसीएस स्कूल के पास जमा होने की सूचना मिली। मुकेश व उनके एक साथी पीसीएस स्कूल के पास रेकी कर रहे थे। तभी मुकेश की नजर उज्ज्वल और उसके एक गुर्गे पर पड़ी। मुकेश व उनके साथी ने उज्ज्वल और उसके दोस्त को पकड़ लिया। दोनों में हाथापाई होने लगी। इसी बीच सब वे के पास पल्सर पर सवार एक अपराधी ने मुकेश पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। दो गोली लगने के बाद भी मुकेश ने उज्ज्वल को नहीं छोड़ा। तभी आर्मी जैकेट पहने अपराधी ने पास आकर मुकेश की कनपटी में गोली मार दी। इसके बाद मुकेश गिर गए और उज्ज्वल फरार हो गया। फिर पुलिस ने भी करीब 10 राउंड फायरिंग की। लेकिन भीड़ के कारण पुलिस खुलकर फायरिंग नहीं कर सकी।

आंखों देखी: आर्मी जैकेट में था कुख्यात देखते ही अपराधी पर टूट पड़ा मुकेश, कनपटी में गोली लगने पर भी नहीं छोड़ा
”शाम 6.15 बजे थे। हमलोग बाइपास पर चढ़ कर पूरब की दिशा में आगे बढ़े। सड़क किनारे खड़े जानीपुर के कुख्यात उज्ज्वल व उसके एक साथी पर नजर पड़ी। दीपक व अक्षयवर सर (सेल के दारोगा) ने तुरंत गाड़ी रोकने को कहा। भीड़ होने के कारण गाड़ी थोड़ा आगे जाकर रुकी। हम सब तेजी से गाड़ी से कूदते हुए अपराधियों की तरफ दौड़े। सिपाही मुकेश ने अपराधी उज्ज्वल को पकड़ लिया जबकि उसके अन्य साथी भीड़ में भागने लगे। पकड़े गए अपराधी को साथ लेकर मुकेश गाड़ी की तरफ बढ़ने लगा। तभी पीछे से किसी ने फायरिंग शुरू कर दी। उसके गर्दन के पास गोली लगी। फिर भी दूसरे अपराधी को पकड़ने की बात कहते हुए मुकेश गिरफ्त में आए अपराधी को नहीं छोड़ा। इसी क्रम में दूसरी गोली उसके पेट में लगी। लहूलुहान होकर गिरने के बाद भी उसने अपराधी को नहीं छोड़ा। हमने हथियार निकाल कर भाग रहे अपराधियों पर गोली चलानी चाही पर भीड़ को देखते हुए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। इसका फायदा उठा कर अपराधी भाग निकले।”

-मधेश्वर कुमार, सिपाही (एनकाउंटर में शामिल टीम का सदस्य)
एसएसपी बोले-बहादुर जवान खोया, गैलेंट्री के लिए नाम करूंगा प्रस्तावित
एसएसपी मनु महाराज बोले-हमने अपना बहादुर जवान खो दिया। पटना पुलिस के अधिकारी और कर्मी सभी एक-एक दिन का वेतन मृतक परिवार को देंगे। हम मुकेश और उसकी टीम का नाम गैलेंट्री अवार्ड के लिए प्रस्तावित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here