कब्रगाह बन गया बेडरूम, मां और दो बेटियों की मौत; कोई चीख तक नहीं पाया

29
Heavy Rainfall lashes in Bhopal

भोपाल. भोपाल में सोमवार सुबह 8:30 बजे से मंगलवार सुबह 8:30 बजे तक हुई 6.25 इंच बारिश ने तीन परिवारों की खुशियां छीन लीं। सोमवार रात 11 बजे के बाद से मंगलवार तड़के तीन बजे तक तीन इंच तेज बारिश हुई। इस दौरान अलग-अलग हादसों में पांच लोगों की जान चली गई। एक शख्स लापता है।

पत्नी-बच्चों की आवाज भी सुनाई नहीं दी…

– बड़ा हादसा किलोल पार्क के पास हुआ। यहां सरकारी बंगले की 150 फीट लंबी और 20 फीट ऊंची ईंट की दीवार ढहने से 30 वर्षीय महिला शुमायला और उसकी दो बच्चियां 9 साल की तंजीला और 3 साल की अरीवा की मौत हो गई। हादसे के वक्त तीनों बेडरूम में सो रहे थे।

– धोबीघाट किलोल पार्क निवासी 32 वर्षीय अजीम ने बताया, वे पत्नी शुमायला, बड़ी बेटी तंजीला और छोटी बेटी अरीवा के साथ बेडरूम में सो रहे थे। रात करीब सवा बजे लगा जैसे कुछ छत पर गिर रहा है। अगले ही पल ऐसी तबाही आई कि बेडरूम कब्रगाह बन गया। पूरी छत और पानी हमारे ऊपर आ गिरा।

– मैं मलबे के नीचे दबा था। दोनों बेटियों और पत्नी की आवाज भी नहीं सुनाई दी। मंगलवार सुबह लोगों ने मुझे अस्पताल पहुंचाया। होश आया तो पता चला कि न तो मेरी पत्नी जिंदा है और न ही दोनों बेटियां।

12 साल बाद… अगस्त में एक दिन में सबसे ज्यादा बारिश
भोपाल में पिछले 24 घंटे में सवा छह इंच बारिश हो गई। 12 साल बाद अगस्त में एक दिन में हुई यह सबसे ज्यादा बारिश है। 2006 में अगस्त में 24 घंटे में 1 तारीख को सवा छह इंच से ज्यादा और 14 तारीख को 11.65 इंच पानी बरसा था।

मुख्यमंत्री ने की अपील
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी प्रदेशवासियों को भारी वर्षा के दौरान सतर्क रहने की सलाह दी है, साथ ही संकट में फंसे लोगों की मदद की अपील भी की है। सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा- भोपाल सहित मध्यप्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में बारिश और बाढ़ से हताहत हुए लोगों को श्रद्धांजलि। स्थिति पर लगातार हमारी नजर है। नागरिकों की मदद की जा रही है। आप सभी से मेरी अपील है कि कोई विषम परिस्थितियों में दिखे तो क्षमता अनुसार उसकी मदद करें।