कट गया पैर, 10 घंटे केबिन में तड़पते युवक ने पी चाय-नाश्ता भी किया लेकिन…

104
ganoda news,banswada news,truck road accident in bamanpada valley,driver dead,delay in rescue,Banswara, Rajasthan, Mandsaur, Ahmedabad, Sagwara, Rahul Yadav

बांसवाड़ा (राजस्थान) बामनपाड़ा घाटी में मंगलवार तड़के 3 बजे एक ट्रक 60 फीट गहरी खाई में गिर गया। मौत का फरमान देखिए, 120 किमी से ड्राइविंग कर रहे दोस्त को आराम देने के लिए साथी ने स्टेयरिंग संभाली। लेकिन, महज 9 किमी का फासला ही तय किया की हादसे में दर्दनाक मौत हो गई। दुखद बात यह भी है कि जिस साथी दोस्त को आराम दिलाने स्टेयरिंग संभाली थी उसी को घायल ड्राइवर ने मदद के लिए कॉल किया लेकिन अंधेरा होने और ट्रक 60 फीट गहरी खाई में जा गिरने से वहां तक नहीं पहुंच पाए। आखिर 10 घंटे तक केबिन में फंसे रहने और काफी खून निकल जाने से ड्राइवर की माैत हो गई। हादसे में प्रतापगढ़ निवासी ड्राइवर 30 वर्षीय कीर्तन ढोली की मौत हुई है।

ढलान पर संभाल नहीं पाया स्टेयरिंग…
कीर्तन अपने साथी ईश्वर के साथ सरियों से भरी ट्रक लेकर मंदसौर से अहमदाबाद निकला था। लगातार ट्रक चला रहे ईश्वर की थकान उतारने के लिए कीर्तन ने स्टेयरिंग संभाली। ईश्वर ये कहते हुए पीछे आ रही ट्रक में सवार हो गया कि सागवाड़ा से वह ट्रक चलाएगा। तड़के 3 बजे थे, कीर्तन महज 9 किमी का सफर ही तय कर पाया था कि बामनपाड़ा घाटी में उतरते ढलान पर स्टेयरिंग संभाल नहीं पाया और ट्रक 60 फीट गहरी खाई में उतर एक नाले की दीवार से जा टकराई। जिससे ट्रक में भरे सरिये केबिन तोड़कर आगे निकल आए। भीतर बैठा कीर्तन भी बुरी तरह केबिन में फंस गया। हादसे में उसके दोनों पैर टूट गए। खून से लतपथ कीर्तन ने अंधेरे में जैसे-तैसे जेब से मोबाइल निकाल आगे ट्रक में सवार साथी ईश्वर को मदद के लिए कॉल किया। कीर्तन का कॉल आते ही ईश्वर के होश उड़ गए। वह वापस पीछे लौटकर बामन घाटी पहुंचा। लेकिन, अंधेरा होने और ट्रक खाई में काफी नीचे तक होने से कीर्तन को नहीं तलाश पाया। आखिर सुबह ट्रक नजर आने पर कीर्तन को मदद मिल सकी।

चाय पिलाई, दर्द से कराहता रहा लेकिन हिम्मत नहीं हारी
केबिन में फंसे कीर्तन को बचाने के लिए एंबुलेंस कर्मी और स्थानीय लोग जुट गए। पुलिस दल भी पहुंचा। कीर्तन को 5 से 6 बार पानी और चाय पिलाई। भीतर फंसा कीर्तन बस एक ही बात बोल रहा था कि उसे बचा ले। नाश्ता करने से पहले कीर्तन बेसुध हो गया। इस पर मेडिकल टीम ने ड्रिप चढ़ाई। 10 घंटे से फंसे कीर्तन के टूटे पैर से काफी खून बह निकला था। आखिर गैस कटर मंगवाई गई। ड्राइवर को बचाने के लिए 108 एंबुलेंस कर्मियों ने बाहर निकाला।


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें