बड़े शहरों में बढ़ रहे प्रॉपर्टी के नाम पर फ्रॉड के मामले

14
aajtaklives news, news in hindi, hindi news, crime news in hindi, सस्ता प्लॉट, सस्ता घर, प्रॉपर्टी फ्रॉड, Property fraud, sasta plot, real estate, Property dealing, sale purchase

4 से 6 लाख में मिल रहा है प्लॉट तो इन बातों का रखें ध्यान, नहीं खाएंगे धोखा 

बड़े शहरों में बढ़ रहे प्रॉपर्टी के नाम पर फ्रॉड के मामले 

नई दि‍ल्‍ली। अकसर आपने छोटे से लेकर बड़े शहरों में 4 से 6 लाख रुपए में प्लॉट, जमीन खरीदने के ऑफर देखे होंगे। इसको लेकर अकसर धोखाधड़ी की खबरें भी सामने आती हैं, लेकिन फिर भी लोग फंस जाते हैं। हालांकि कुछ जगह ऐसी हैं, जहां सस्ते प्लॉट मिल भी जाते हैं, लेकिन इन प्लॉट को खरीदने से पहले आप यदि कुछ बातों को ध्यान में रखें तो धोखाधड़ी से बच सकते हैं।

इन सब बातों को ध्‍यान में रखते हुए पुलि‍स समय-समय पर एडवाइजरी जारी करती है। आइए जानते हैं, वे 10 बातें, जिनका ध्यान रख कर आप धोखाधड़ी से बच सकते हैं।

यह भी पढ़ें : बेगम ने सेक्स से किया इंकार तो मजहबी अयूब पठान ने…

1 जमीन के मालि‍क या एजेंसी जैसे डीडीए, एल एंड डीओ, नोएडा अथॉरि‍टी, जीडीए वगैरह से प्‍लॉट के स्‍वामि‍त्‍व की जांच करें।
2 नि‍र्माण की वास्‍तवि‍क स्‍थि‍ति जानने के लि‍ए प्रोजेक्‍ट साइट/ भूमि का स्‍वयं नि‍रीक्षण करें।
3 दस्‍तावेजों जैसे भवन निर्माता- खरीदार अनुबंध, सेल डीड, जीपीए, एसपीए, वसीयत आदि सावधानी के साथ पढ़ें।
4 हस्‍ताक्षर करने से पूर्व कानूनी वि‍शेषज्ञ से परामर्श कर लें। गैर पंजीकृत / पूर्व हस्‍ताक्षरि‍त दस्‍तावेजों पर भरोसा ना करें।
5 लाइसेंस/स्‍वीकृत लेआउट या साइट प्‍लान/नक्‍शा और अन्‍य मंजूरी की जांच एवं सत्‍यापन संबंधि‍त सि‍वि‍क एजेंसि‍यों/ टाउन प्‍लानर्स से करा लें।
6 कि‍सी अधि‍ग्रहण कार्यवाही के संबंध में भूमि की स्‍थि‍ति भूमि अधि‍ग्रहण कलेक्‍टर (LAC)से बंधक (Mortgage) हेतु सीईआरएसएआई एक्‍ट की सेंटर रजिस्‍ट्री से या अन्‍य सि‍वि‍ल / आपराधि‍क मुकदमेबाजी की जांच कर लें।
7 खरीदारी केवल रजि‍स्‍टर्ड सेल डील के माध्‍यम से हस्‍ताक्षर के साथ स्‍वामी के अंगूठे/अंगुली की छाप के साथ करें।
8 भुगतान हमेशा स्‍वामी के नाम में चेक/डीडी/आरटीजीएस और अन्‍य बैकिंग प्रपत्रों के माध्‍यम से करें।
9 मूल दस्‍तावेजों के साथ, भूस्‍वामी के हस्‍ताक्षर एवं अंगुल छाप भुगतान के प्रमाण स्‍वरूप प्राप्‍त करें।
10 अंति‍म भुगतान और दस्‍तावेजों के नि‍ष्‍पादन के तुरंत बाद वास्‍तवि‍क कब्‍जा प्राप्‍त करें।

यह भी पढ़ें : नाबालिग से चार साल तक गैंगरेप करने के आरोप में तीन…

यह भी पढ़ें : प्यार करने की सजा मिली मौतः गैर समुदाय की लड़की से…

यह भी पढ़ें : बलात्कार साक्ष्य: जानें क्या है ‘टू फिंगर टेस्ट’

यह भी पढ़ें : पिता ने दुष्कर्म पीड़ित गर्भवती पुत्री को श्मशान में गला दबाकर…


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें यह भी पढ़ें :