नग्न करना, जान से मारना, प्राईवेट पार्ट्स काटना और महिलाओं की आंखों को पेचकस से निकल लेता था

890
aajtaklives news in hindi,aajtaklives news,hindi news,hindi news,Latest Weird Stories,ajab ghazab news in hindi

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि सीरियल किलर्स बेहद ही ज्यादा घिनौने और खतरनाक होते हैं, क्योंकि वो कई लोगों का बेरहमी से कत्ल कर देते हैं। आपने भी कई सीरियल किलर्स के बारे में सुना, पढ़ा या फिर फिल्मों में या खबरों में भी देखा होगा।

इस हैवान का नाम आंद्रेई शिकाटिलो था जिसका जन्म 16 अक्टूबर 1936 को सोवियत रूस के यूक्रेन में हुआ था। इस कुख्यात सीरियल किलर आंद्रेई शिकाटिलो ने इंसानियत को शर्मसार कर देने वाले घिनौने काम किए। इसने 56 से ज्यादा महिलाओं को मौत के घाट उतार दिया था जिनमें सबसे ज्यादा युवतियां शामिल थीं। गौरतलब है कि साल 1978 से 1990 तक इस हत्यारे ने 50 से ज्यादा लोगों की हत्याएं कर के अपनी हैवानियत की प्यास बुझाई थी।

पेशे से था टीचर
आंद्रेई शिकाटिलो कोई आम शख्स नहीं था, वो एक टीचर था। जी हां एक टीचर जो कि स्टूडेंट्स को शिक्षा के साथ-साथ जीवन में अच्छाई का पाठ पढ़ाता है। लेकिन ये शख्स जो कि दुनिया के सामने तो एक अच्छा टीचर था, लेकिन अकेले में बन जाता था हैवान और मासूम महिलाओं को मौत के घाट उतारकर उनके शवों के साथ बर्बरता करता था। बता दें, इस सीरियल किलर को बुचर ऑफ रोस्तोव और दी रेड रीपर भी कहा जाता है।

औरतों की योनि कितनी गहरी और चौड़ी होती है ?

शिकार को फंसाने का तरीका
ये शिकारी पहले अपना शिकार चुनता था फिर उसे ड्रग्स का लालच देकर बहाने से अपने जगह पर बुला लिया करता था। जिसके बाद वो बड़ी तसल्ली से उसे बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया करता था।

नग्न कर हाथ-पैर बांधना
ड्रग्स के बहाने शिकाटिलो महिलाओं को फुसला लेता था और फिर वो उनके साथ पहले तो बड़े प्यार से पेश आता था फिर अपना असली चेहरा दिखाते हुए महिलाओं को मारने से पहले उनके पूरे कपड़े उतारकर हाथ-पैर बांध दिया करता था।

लाश के साथ हैवानियत
जैसा कि हमने आपको बताया कि ये घिनौना किलर एक नहीं, दो नहीं पचास से ज्यादा महिलाओं को अपना शिकार तो बना ही चुका था, लेकिन वो उनकी लाशों को भी नहीं बकशता था। वो उन लोगों की लाशों के साथ शारीरिक संबंध बनाने जैसी अविश्वसनीय हरकत करता था।

सेक्स से पहले उसे महिला की वजाइना में लगा दिया जाता था

प्राइवेट पार्ट्स को काटना
लोगों को जान से मारने और उनके शवों के साथ दुष्कर्म करने पर भी इस जानवर का मन नहीं भरता था और वो शवों के प्राइवेट पार्ट्स को काट देता था। जिससे ये बात साफ होती है कि ये इंसान की खाल में भेड़िया था।

पेचकस से आंखें निकालना
नग्न करना, जान से मारना, प्राईवेट पार्ट्स काटना और फिर लाश के साथ दुष्कर्म करने से भी शिकाटिलो तो ठंडक नहीं मिलती थी और वो महिलाओं की आंखों को पेचकस से निकल लेता था।

खबरों के मुताबिक ने इस हत्यारे ने सबसे पहले 17 साल की एक लड़की को अपना शिकार बना डाला था जिसके बाद इसकी गिरफ्तारी भी सन् 1990 में हुई और तहकीकात के बाद उसका पर्दा फाश हो गया। गौरतलब है कि शिकाटिलो को 14 फरवरी 1994 को अलग ढंग से उसके घिनौने अपराधों की की सजा दी गई जिसमें उसके सिर पर गोली मारकर मौत के घाट उतारा गया।