पहली बार सेक्स वर्कर ने शेयर की अपनी दर्दभरी कहानी

0
357
girl trafficked intobangladesh brothel at 13 reveals her daily mistreatment,,bangladesh,dhaka
नाबालिग सेक्स वर्कर ब्रिस्ती तैयार होते हुए। वहीं दूसरी फोटो में लड़की वो दवा दिखा रही है, जो इन्हें तेजी से शारीरिक विकास के लिए दी जाती है। (फाइल फोटो)

खबर जरा हटके डेस्क/ढाका.बांग्लादेश के ब्रॉथल (वेश्यालय) में पिछले पांच साल से रह रही एक लड़की ने अपने ऊपर हुए अत्याचारों की कहानी शेयर की है। इसे पहली बार ब्रिटेन की न्यूज वेबसाइट डेली मेल ने पब्लिश किया है। सेक्स वर्कर रूपा ने दर्दनाक कहानी शेयर करते हुए बताया कि उसे 13 साल की उम्र में वेश्यालय में बेच दिया गया था। जब उसने यहां न रहने का विरोध किया तो उसे मारा-पीटा गया। फिर समय से पहले शारीरिक विकास और मोटा करने के लिए उसे दवाएं दी गईं। उसे वो दवाएं दी गई, जो आमतौर पर गाय को मोटा करने के लिए दी जाती है। अब वो अपने कस्टमर्स के हाथों अत्याचार का शिकार हो रही है, जिसके बदले उसे एक सर्विस के 150 रुपए मिलते हैं। पति की मौत के बाद ब्रॉथल में बेच दी गई…

– 19 साल की रूपा कांदीपारा ब्रॉथल में रहती है। ये बांग्लादेश के 20 लीगल ब्रॉथल में से एक है, जहां 400 प्रॉस्टीट्यूट काम करती हैं। रूपा की 11 साल की उम्र में उससे तीन गुना बड़े आदमी से शादी करा दी गई थी। 13 साल की होते-होते वो एक बच्चे की मां भी बन गई। इसी बीच, काम के दौरान एक एक्सिडेंट में रूपा के हसबैंड की मौत हो गई और उसके परिवार ने उसे अपनाने से इनकार कर दिया।
– रूपा की फैमिली ने कहा कि वो उसका और उसके बेटे का खर्च नहीं उठा सकती। रूपा वर्जिन भी नहीं थी इसलिए अब उसकी शादी भी संभव नहीं थी। लिहाजा, रूपा काम की तलाश में ढाका पहुंची, पर कोई काम नहीं मिला। इसी बीच, एक सेक्स वर्कर की नजर उस पर पड़ी और उसे धोखे में लेकर ब्रॉथल में बेच दिया गया।

तरह-तरह से किया गया टॉर्चर
– कांदीपारा में लाए जाने के तीन दिन तक उसे एक कमरे में बंद कर रखा गया था। उसने कई बार यहां से भागने की कोशिश की, लेकिन हर बार उसे पकड़ लिया गया और पीटा गया।
– रूपा ने बताया कि उसकी उम्र सिर्फ 13 साल थी और शारीरिक तौर पर उसका विकास नहीं हुआ था इसलिए उसे मोटा करने के लिए ऑराडेक्सन दवा दी गई, जो गाय को दी जाती है।
– जब रूपा थोड़ी बड़ी दिखने लगी, तब उसे लाइसेंस बनवाने के लिए पुलिस स्टेशन भेजा गया। वो इतनी डरी हुई थी कि वहां वहीं बातें दोहराती रही, जो उसे ओनर ने सिखाकर भेजा था।
– रूपा ने पुलिस से कहा कि मेरी उम्र 18 साल है और मैं ब्रॉथल में काम करने के लिए तैयार हूं और बहुत खुश हूं क्योंकि मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है।

एक कस्टमर से 150 रु. कमाई
– ब्रॉथल में अब रूपा को पांच साल गुजर चुके हैं। इसके बाद भी उसे जबरन रोज 10 से 12 कस्टमर को अपनी सर्विस देनी पड़ती है। हर कस्टमर से उसे करीब 150 रुपए के करीब मिलते हैं।
– रूपा ने ये भी बताया कि उसे आए दिन अपने कस्टमर्स की मार-पीट का शिकार होना पड़ता है, लेकिन इसके बाद भी वो काम से इनकार नहीं कर सकती है क्योंकि कोई दूसरा विकल्प नहीं है।

47 फीसदी सेक्स वर्कर नाबालिग आईं
– एक अनुमान के मुताबिक, बांग्लादेश में 47% फीमेल सेक्स वर्कर बाल विवाह के बाद लाई गईं, जो इस धंधे में आने के वक्त नाबालिग थीं। जबकि यहां 18 साल की उम्र से कम होने पर ब्रॉथल में काम करने पर पांबंदी है। सेक्स वर्कर्स को यहां काम करने के लिए पहले स्टेट से लाइसेंस बनवाना पड़ता है।
– यूनिसेफ के मुताबिक, बांग्लादेश में साल 2017 में 22% लड़कियों की 15 से 19 साल की उम्र शादी कर दी गई। जबकि 59% लड़कियों की शादी 18 की उम्र में हुई।