3 साल की बच्ची से रेप मामलाः मासूम की एक ही जिद- मां घर ले चलो, मां की बेबसी…आईसीयू में कैसे छोड़ दें

0
77
aajtaklives hindi news

जयपुर। 3 साल की रेप पीड़िता बच्ची का हॉस्पिटल के सर्जिकल आईसीयू में इलाज चल रहा है। बच्ची मां से बार-बार एक ही जिद करती है- मां… मुझे घर ले चलो, मुझे भाई अौर बहन के साथ खेलना है। मां बार-बार दिलासा देती है बेटा भाई-बहन यहीं आ रहे हैं, फिर खूब खेलना। पिछले दो दिन में एक मिनट भी ऐसा नहीं गया जब मां ने अस्पताल में उसे अकेला छोड़ा हो। मां उसे बार-बार समझाती है कि तबीयत ठीक होते ही घर चलेंगे। मां का दिलासा पाकर एक बार तो चुप हो जाती है लेकिन थोड़ी देर बाद फिर बिलखने लग जाती है। बच्ची का चार साल का भाई भी बुधवार को स्कूल नहीं गया। घर में कोई भी जाता है तो दो साल की छोटी बहन पूछती है दीदी कहां गई? अस्पताल में मासूम की स्थित में सुधार हो रहा है। हॉस्पिटल की डिप्टी सुपरिटेंडेंट डॉ. अर्चना जौहरी ने बताया कि बच्ची की तबीयत ठीक है। सर्जरी और गायनी के डॉक्टर उसकी देखरेख कर रहे हैं। बता दें, 02 जुलाई को मासूम के साथ दरिंदगी हुई थी।

महिला आयोग अध्यक्ष ने पीड़िता की जानी हालत
– राज्य महिला आयोग अध्यक्ष सुमन शर्मा जेके लॉन में भर्ती दुष्कर्म पीड़िता बच्ची को देखने पहुंचीं। उन्होंने हॉस्पिटल अधीक्षक से इलाज की जानकारी लेकर निर्देश भी दिए।

– उन्होंने डीसीपी ईस्ट कुंवर राष्ट्रदीप से आरोपी के विरुद्ध जल्द से जल्द चालान पेश करने के निर्देश दिए। डीसीपी ने केस दर्ज कर जल्दी ही चालान पेश करने का विश्वास दिलाया।

– अध्यक्ष शर्मा ने बताया, नाबालिग बच्चियों से दुष्कर्म की घटनाओं पर बहुत दुख होता है। ऐसे अपराधियों को तुरंत उनके अंजाम तक पहुंचाने और सजा दिलवाने के लिए हर जिले में पॉक्सो अदालतें खुलवाने के लिए मुख्यमंत्री को लेटर लिखा है।
– बच्ची से हुए रेप के मामले में बुधवार को लोगों ने प्रदर्शन किया। उनका कहना है कि रेप के मामलों में जल्द ट्रायल पूरी हो और आरोपियों को फांसी दी जानी चाहिए।

आरोपी को पुलिस ले जाएगी घटनास्थल पर
– आरोपी पवन रैगर को पुलिस ने बुधवार को पोक्सो कोर्ट में पेश कर 2 दिन के पीसी रिमांड पर लिया है। पूछताछ में आरोपी ने घटना स्वीकार की है। गुरूवार को घटना स्थल की तस्दीक कराई जाएगी।

– गौरतलब है कि सोमवार रात को 10 बजे अपने घर के बाहर खेल रही 3 साल की मासूम के साथ आरोपी ने हैवानियत की हदें पार की थी। बच्ची की मां ने उसे पकड़कर पीटा तो वह छुड़ाकर भाग निकला था।