हैवानियत की हद: 2 लड़कों ने लड़की को 6 महीने अंधेरे कमरे में रस्सियों से बांधकर रखा, रोज उसके साथ करते थे रेप

232
Phillaur Punjab News, 17 years old girl r aping,molestation, crime news,Phillaur, Punjab

फिल्लौर (पंजाब)। 6 महीने पहले घर के बाहर से 17 साल की लड़की को उठाकर ले गए दो युवक 6 महीने उसे अंधेरे कमरे में रस्सियों से बांधकर जबरदस्ती करते रहे। लड़की की हालत ज्यादा बिगड़ गई तो उसे नकोदर के धार्मिक स्थल के बाहर फेंक गए। लड़की को सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। पुलिस के मुताबिक लड़की की मां ने शिकायत दी है। सिविल अस्पताल में शनिवार को लड़की की मां ने बताया कि उसका पति रिक्शा चलाता है। उसकी दो बेटियां 17 और 14 साल की हैं। बड़ी बेटी 6 महीने से लापता थी, शिकायत फिल्लौर पुलिस में दी थी।

एडिशनल एसएचओ कुलवंत सिंह ने कहा कि लड़की 6 महीने पहले लापता हुई थी। तब से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। फिलहाल डॉक्टरों के मुताबिक लड़की अभी बयान देने की स्थिति में नहीं है। उसके बयान दर्ज करने के बाद अगली कार्रवाई की जाएगी।

अंधेरे कमरे में रस्सियों से बांधकर रखते थे
सिविल में भर्ती पीड़ित लड़की ने बताया कि 6 महीने पहले दो युवक स्कूटर पर उसके घर के बाहर आए। उस समय उसके माता-पिता काम पर और छोटी बहन स्कूल गई हुई थी। दोनों युवक क्या बोल कर, उसे अपने साथ बिठाकर ले गए, उसे अभी तक कुछ समझ नहीं आया। उसे बस इतना पता है कि उसे एक अंधरे कमरे में रस्सियों से बांधकर रखा, एक समय खाना देते थे और हर रोज जबरदस्ती करते थे। उनकी कैद से छूटने के बाद शनिवार को ही उसने पहली बार सूर्य की रोशनी देखी।

माथा टेकने गए गांव के परिवार ने पहचाना
लड़की की मां ने बताया कि बेटी उन्हें 6 महीने बाद मिली है। उसके गायब होने की शिकायत फिल्लौर पुलिस को भी दी गई थी। काफी तलाश करने के बावजूद जब लड़की नहीं मिली तो उन्होंने भगवान के सहारे उसे छोड़ दिया। अब बेटी की हालत काफी खराब है। जब उक्त युवकों ने देखा कि उसकी हालत बिगड़ रही है तो उसे नकोदर के धार्मिक स्थल के बाहर फेंककर चले गए। वहां गांव का ही एक परिवार माथा टेकने गया था। उन्होंने लड़की को पहचान लिया और सरपंच को बताया। सरपंच ने उन्हें बताया।

बच्चियों को ब्लू फिल्में दिखाता फिर नशे की दवा देकर करता था रेप रोज सजती थी संचालक की महफिल

Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें