स्कूल में सब पिछले 7 महीने से छात्रा का कर रहे थे बलात्कार

310
aajtaklives hindi news

बिहार के सारण जिले में 18 लोगों पर दुष्‍कर्म का आरोप लगाने वाली 10वीं की छात्रा ने अपने साथ पिछले सात महीने तक हुई दरिंदगी का खुलासा पुलिस में दर्ज एफआईआर में किया है। पीड़िता का आरोप है कि पहले स्‍कूल के प्रिंसिपल के नाबालिग बेटे ने उसका यौन शोषण किया, जिसके बाद प्रिंसिपल ने भी ऐसा ही किया। इस मामले में दो अन्‍य शिक्षकों पर भी आरोप है, जबकि अन्‍य आरोपी छात्र हैं।

प्रिंसिपल के नाबालिक बेटे ने चाकू के नोक पर किया दुष्कर्म
crime news in hindi
छात्रा का आरोप है कि पिछले साल दिसंबर में चाकू की नोंक पर उसके साथ दुष्‍कर्म करने वाले वालों में से एक प्रिंसिपल का नाबालिग बेटा भी शामिल था। पीड़िता ने इस सिलसिले में 06 जुलाई को एफआईआर दर्ज कराई।

आरोपियों ने दुष्कर्म का वीडियो बनाकर दे रहे थे धमकी
crime news in hindi
जिसके हवाले से दी अपनी रिपोर्ट में ‘हिन्‍दुस्‍तान टाइम्‍स’ ने कहा है कि दुष्‍कर्म के आरोपियों ने घटना का वीडियो भी बना लिया था और किसी को भी इस बारे में बताए जाने पर इसे सार्वजनिक कर देने की धमकी दी थी। एफआईआर में लड़की ने कहा है कि उसके साथ पहली बार दिसंबर में स्‍कूल के शौचालय में रेप हुआ। बाहर निकलने पर स्‍कूल के प्रिंसिपल ने उसके कपड़ों पर खून के धब्‍बे और उसकी बदहवाश हालत को देखकर अपने केबिन में बुलाया और इस बारे में पूछताछ की।

प्रिंसिपल ने भी नही की लड़के के खिलाफ कोई कार्रवाई
crime news in hindi
वहां दो और टीचर भी मौजूद थे। लेकिन किसी भी लड़के को बुलाकर इस बारे में पूछने या उनके खिलाफ कार्रवाई की बजाय उन्‍होंने उल्‍टा लड़की से कहा कि वह उनके निजी टॉयलेट में अपने कपड़े साफ कर ले और घर जाए। एफआईआर के मुताबिक, इस घटना के 10 दिन बाद जब पीड़िता स्‍कूल लौटी तो प्रिंसिपल ने उसे अपने कमरे में बुलाया और उसके साथ वही किया, जो उनके नाबालिग बेटे ने किया था। उन्‍होंने विरोध करने पर उसका करियर तबाह कर देने की धमकी भी दी। लड़की का कहना है कि वह 5 जुलाई तक इस दरिंदगी का शिकार होती रही, जब उसकी क्लास के ही पांच और लड़कों ने उसके साथ दुष्‍कर्म किया। इसके बाद उसने 6 जुलाई को इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। स्कूल में किसी न किसी के द्वारा लगातार हो रहे शारीरिक शोषण से वह छात्रा टूट चुकी थी। लेकिन यह बात वह बताएं तो किसे? घर में अकेली मां ही थी और एक छोटा भाई। पिता जेल में बंद थे। जब उसके पिता जेल से छूटकर घर आए तो उसने आपबीती उनसे बताई। जिसके बाद में उसे लेकर थाना पहुंचे और मामला खुलकर सामने आया।