‘सैलरी’ नहीं दी तो लिव इन पार्टनर ने कर दी हत्या

55
Woman killed by live-in partner for refusing to share salary

नई दिल्ली. दिल्ली में एक शख्स को अपनी लिव इन पार्टनर की हत्या के मामले में अरेस्ट किया गया है। आरोपी का नाम अजय कालिया बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला ने अपनी सैलरी का हिस्सा खर्च के लिए देने से मना कर दिया था, जिसके चलते आरोपी ने उसकी कपड़े से गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद उसकी फैमिली को फोन कर बताया कि उनकी बेटी की तबीयत खराब है और वो उसे घर जाकर देख आएं। आरोपी अजय को घटना के 12 घंटे बाद रेलवे स्टेशन से अरेस्ट किया गया, जहां वो ट्रेन पर सवार होने की तैयारी में था।

सैलरी ने देने पर किया मर्डर
– नॉर्थ-ईस्ट डीसीपी अतुल कुमार ने बताया कि अजय को 25 साल की जीनत के मर्डर के आरोप में अरेस्ट कर लिया गया है। दोनों लिव इन पार्टनर्स थे।
– पुलिस के मुताबिक, जीनत पहले से शादीशुदा थी और तीन बेटियों की मां थी। 6 महीने पहले से ही उसकी मुलाकात अजय से हुई थी और दोनों साथ घूमना-फिरना शुरू किया था।
– तीन दिन पहले ही ये सीलमपुर के शास्त्री पार्क में किराए पर रहने के लिए आए थे। जीनत की बेटियां उसके रिश्तेदारों के साथ यूपी के लोनी में रह रही थीं।
– पुलिस ने बताया कि मंगलवार शाम को पेशे से ऑटो रिक्शा ड्राइवर अजय अपने घर पहुंचा और जीनत से पैसों की डिमांड करने लगा, इसके लेकर दोनों में झगड़ा हो गया।
– जीनत ने झगड़ते हुए कहा कि अगर तुम्हें मुझसे पैसे चाहिए तो पहले मुझसे शादी करनी होगी। बात इतनी बढ़ गई कि अजय ने जीनत की चुन्नी से ही उसका गला दबा दिया।

महिला को उसी हाल में छोड़ भागा
– जीनत जैसे ही जमीन पर अचेत हालत में गिरी, वैसे ही अजय घर से भाग निकला। उसने जीनत के भाई से एक फोन लिया और उससे कहा कि वो जाकर जीनत से मिल ले क्योंकि उसकी तबीयत खराब है।
– इसके बाद उसने जीनत के घरवालों से कॉन्टैक्ट किया और बताया कि वो एक हादसे का शिकार हो गई है और ठीक हालत में नहीं है। जब जीनत का भाई घर पहुंचा तो देखा कि वो जमीन पर थी और उसके मुंह से खून निकल रहा था।

पुलिस ने किया अरेस्ट
– जीनत की फैमिली ने पुलिस में मामले की रिपोर्ट की, जिसके बाद आरोपी को अलीगढ़ में रेलवे स्टेशन से अरेस्ट किया गया। वो ट्रेन में सवार होने की तैयारी में था।
– अजय ने हत्या की बात भी कबूल ली और बताया कि महिला अपनी कमाई के पैसे घर के खर्च के लिए नहीं दे रही थी। इसी बात को लेकर दोनों में अक्सर बहस होती थी।