यौन शोषण: शेल्‍टर होम में दफन कई लड़कियां?

0
72
shelter home excavation

मुजफ्फरपुर बिहार के मुजफ्फरपुर में बच्चियों के साथ यौन उत्‍पीड़न के मामले में अब स्‍थानीय पुलिस शेल्‍टर होम परिसर की खुदाई करने जा रही है। इससे पहले एक पीड़िता ने बयान दिया था कि एक लड़की को कर्मचारियों की बात नहीं मानने पर पीट-पीटकर मार डाला गया था। यही नहीं, लड़की के शव को भी शेल्‍टर होम के परिसर में ही दफना दिया गया।

पीड़‍िता के बयान के बाद पुलिस शेल्‍टर होम परिसर की खुदाई करने जा रही है। जांच में यह भी सामने आया है कि शेल्‍टर होम से छह लड़कियां गायब हुई हैं। पुलिस पूछताछ में पीड़‍िताओं ने यह जानकारी दी है। बताया जा रहा है कि वर्ष 2013 से 2018 के बीच ये लड़कियां गायब हुई हैं। इन लड़कियों के गायब होने का कोई पुलिस रिकॉर्ड नहीं है।

शेल्‍टर होम के रिकार्ड में प्रबंधन ने इन लड़कियों को भगोड़ा बताया है। पुलिस अब इन बच्चियों की तलाश में साहू रोड स्थित शेल्‍टर होम परिसर की खुदाई शुरू करने जा रही है। परिसर में बड़ी संख्‍या में पुलिसकर्मी और जांच अधिकारी तैनात किए गए हैं। माना जा रहा है कि परिसर की खुदाई से गायब लड़कियों के बारे में कुछ सबूत हाथ लग सकते हैं।

बता दें कि इस मामले में राज्‍य की राजनीति गर्म है। बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने रविवार को मुजफ्फरपुर सहित प्रदेश के अन्य जिलों में शेल्‍टर होम की लड़कियों और महिलाओं के साथ दुष्कर्म को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जबरदस्त हमला बोला था। तेजस्वी ने राज्य सरकार पर आरोपियों को बचाने का आरोप पर लगाते हुए कहा कि गत मार्च महीने से इस बात की जानकारी होने के बावजूद राज्य सरकार द्वारा आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं गई और अब वहां एक लड़की को मारकर उसके शव को दफना दिए जाने की बात सामने आई है।

तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि सरकार द्वारा संचालित इन शेल्‍टर होम में शरण लिए हुईं लड़कियों और महिलाओं के साथ लगातार दुष्कर्म होता रहा, पर यह ‘अंतरात्मा बाबू’, बेटी बचाओ पीएम और देश के अन्य नागरिकों की अंतरात्मा को नहीं झकझोर पाया जो दुर्भाग्यपूर्ण है। तेजस्‍वी ने आरोप लगाया कि एनजीओ के मालिक नीतीश के करीबी हैं और उन्होंने उनके लिए चुनाव प्रचार भी किया है।