मैं गिड़गिड़ाती रही, मत मारो लेकिन भाई ने एक न सुनी, चाकुओं से गोदकर दे दी दर्दनाक मौत

199
honor killing case brother killed sister husband in indore

चाचा और चचेरे भाई के साथ बहन के घर पहुंचा, थाली से उठाकर जीजा को घसीटते हुए बाहर लाया और चाकू से वार किए।

इंदौर.शहर में गुरुवार को ऑनर किलिंग का मामला सामने आया। परिवार की मर्जी के बगैर शादी करने वाली बहन के भाई ने चाचा और चचेरे भाई के साथ जीजा को चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतार दिया। बीच-बचाव करने आई बहन को भी लात-घूंसों से पीटा। पड़ोस में रहने वाला दोस्त बचाने आया तो उसे भी चाकू मार दिया।

5 लाख रु. मेंबहन का सौदा करने वाला था भाई

भाई शादी के नाम पर 5 लाख रुपए में बहन का सौदा करने वाला था। बहन ने प्रेमी के साथ शादी कर ली तो भाई ने इस घटना को अंजाम दे दिया। घटना भावना नगर में सुबह 9.30 बजे की है। मृतक तेजकरण उर्फ करण पिता गौरीशंकर भालसे है। आरोपी अरुण पिता किशोर भालसे, राहुल भालसे व शिवराम भालसे हैं।

सप्ताहभर पहले मारपीट की, तब पुलिस थाने ले आई थी

भंवरकुआं टीआई संजय शुक्ला के मुताबिक राहुल अरुण का चचेरा भाई है। शिवराम अरुण के चाचा हैं। तेजकरण के दोस्त मोनू की हालत गंभीर है। तेजकरण ने घटना के करीब पांच घंटे बाद इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ा। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर देर रात शिवराम को हिरासत में ले लिया, जबकि अरुण और राहुल फरार हैं। घायल मोनू ने पुलिस को बताया कि राहुल और अरुण तेजकरण को धमकाते थे। वह कहते थे कि या तो हमारी बहन वापस कर दे या हमें पांच लाख रुपए दे दे। सप्ताहभर पहले अरुण ने तेजकरण से मारपीट भी की थी, तब पुलिस दोनों को थाने ले गई थी।

मैं गिड़गिड़ाती रही, भाई चाकू घोंपता रहा

8 साल से हमारा प्रेम संबंध था, लेकिन मेरे परिवार वाले सूरत में मर्जी के बगैर पांच लाख रुपए लेकर मेरी शादी करवाना चाह रहे थे। तीन महीने पहले मैंने और करण ने मर्जी से शादी कर ली। गुरुवार सुबह मैंने तेजकरण को खाना परोसा ही था कि भाई अरुण, चाचा शिवराम और चाचा का लड़का राहुल घर में घुसे और गाली-गलौज कर पति को खींचकर नीचे ले गए। भाई पति पर हमला करता रहा, मैं गिड़गिड़ाती रही कि मत मारो, लेकिन वह चाकू से गोदने लगा। मैंने ने बचाव किया तो मुझे भी लात-घूंसों से पीटा। जैसा घटना की प्रत्यक्षदर्शी रही तेजकरण की पत्नी रिंकी ने बताया।

पिता बोले- शादी के बाद से ही मिल रही थी धमकी

तेजकरण के पिता गौरीशंकर निजी कॉलेज में ड्राइवर हैं। उन्होंने बताया कि अरुण और राहुल बेटे को मारते-पीटते नीचे लाए और चाकू से पीठ, पेट व जांघ में 6-7 वार किए। तेजकरण इकलौता बेटा था। वह निजी कंपनी में काम करता था। दोनों के प्रेम को देख मैं रिंकी के पिता से शादी की बात कर चुका था, लेकिन उसके परिवारवाले सहमत नहीं हुए। शादी के बाद हमने रिंकी को बहू मानकर घर में ही रख लिया था। शादी के बाद अरुण कई बार बेटे को मारने की धमकी देता था। बेटे की मौत से मां सुंदरबाई, बहनें चित्रा, साधना, मनीषा बदहवास हैं।

2015 में भी सामने आया था ऐसा ही एक मामला

अगस्त 2015 में भी ऑनर किलिंग से जुड़ा मामला सामने आया था। अर्चना और हेमेंद्र डोंगरे ने अर्चना के घर वालों की मर्जी के बगैर हेमेंद्र से प्रेम विवाह किया था। अर्चना के परिवार ने उसे रक्षाबंधन मनाने के बहाने घर बुलाया था। माता-पिता, चाचा और दोनों चचेरे भाई घर पहुंचते ही उन पर टूट पड़े थे। चचेरे भाइयों ने गला घोंटकर हेमेंद्र को मौत के घाट उतार दिया था। अर्चना से भी मारपीट की थी।