मेरठ में ससुर-दामाद ने किया गर्भवती से रेप, पति ने बोला तीन तलाक

190
rape with pregnant women

मेरठ
देश में तीन तलाक को अमान्य करार दिए जाने के बाद भी ऐसी घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। मेरठ में दहेज के लिए एक गर्भवती विवाहिता को भूखा प्यासा रखा। उस पर जुल्म किए और मांग पूरी नहीं करने पर ससुर और उसके दामाद (नंदोई) ने रेप किया। दोनों ने बताने पर जान से मारने की धमकी दी और घर से निकाल दिया। यही नहीं, विवाहिता के पति ने मदद करने की बजाय उसे तीन तलाक दे दिया।

विवाहिता की तहरीर पर पति समेत चार के खिलाफ थाना खरखौदा में एफआईआर दर्ज की गई है। तीन तलाक का यह मामला मेरठ के थाना खरखौदा क्षेत्र का है। खरखौदा की युवती की शादी हापुड़ जिले के धौलाना क्षेत्र में हुई थी। विवाहिता का आरोप है कि शादी में उसके परिजनों ने करीब 8 लाख रुपये खर्च किए थे। दहेज में बाइक भी दी थी लेकिन ससुराल वाले कार और दो लाख रुपये नकद की मांग कर रहे थे।

विवाहिता ने पिता के नहीं होने की दुहाई दी और बताया कि भाई गरीब है लेकिन ससुरालवालों ने उसकी एक नहीं सुनी। मांग पूरी नहीं करने पर उसे घर में बंद कर दिया। भूखा-प्यासा रखा। उसके साथ मारपीट की गई। विवाहिता की एक बेटी है और इसी वजह से वह अत्याचार बर्दाश्त करती रही। वह तीन महीने की गर्भवती भी है। विवाहिता का आरोप है कि 12 जुलाई को उसका पति गुड़गांव गया था। उसकी गैरमौजूदगी में ससुर ने उसके साथ रेप किया।

आरोप है कि ससुर ने अपने दामाद (विवाहिता के नंदोई) से भी रेप कराया। पति के आने पर जब विवाहिता ने उसे पूरी घटना बताई तो वह उसका पक्ष लेने की बजाए गुस्सा हो गया और उसे घर से निकाल दिया। वह मायके आ गई। इसके बाद पति अपनी मां के कहने पर अपनी ससुराल आया और तीन तलाक देकर चला गया। इसके बाद मायके वाले विवाहिता को लेकर थाने पहुंचे। पुलिस ने पति, सास, ससुर और नंदोई के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

एसआईआर दर्ज, होगी गिरफ्तारी: एसएसपी
एसएसपी मेरठ राजेश कुमार पांडेय के मुताबिक थाना खरखौदा में एक महिला ने बताया कि उसकी शादी धौलाना क्षेत्र में रिजवान से हुई थी। शादी के बाद से ससुराल वाले एक गाड़ी और कुछ पैसे की मांग कर रहे थे। गुरुवार को ससुराल वाले एक गाड़ी में विवाहिता के मायके आए और तीन तलाक बोलकर चले गए। वह तीन महीने से गर्भवती है। एसएसपी ने बताया कि इस मामले में प्रताड़ना और दहेज उत्‍पीड़न की एफआईआर दर्ज कर ली गई है। आरोपियों को गिरफ़्तार करने की कोशिश की जा रही है।