मृतका ने डेढ़ साल की उम्र में गोद लिया, सारी प्रॉपर्टी उसके नाम कर दी थी लेकिन…

68
Chhatisgarh news in hindi,Raipur News,Raipur samachar,Chhatisgarh News,Chhatisgarh samachar,Chhatisgarh news in hindi,aajtak live Chhatisgarh news - Raipur News, न्यूज़, समाचार,न्यूज़ न्यूज़,न्यूज़ समाचार,आजतक लाइव, न्यूज़ इन हिंदी,आजतक लाइव,आजतक लाइव इ पेपर, chhattisgarh raipur News In Hindi:chhattisgarh raipur News,raipur samachar,raipur News,chhattisgarh samachar, chhattisgarh News, aajtak live News in Hindi, आजतक लाइव न्यूज हिंदी, आजतक लाइव न्यूज.,Raipur, Chhattisgarh

रि. अफसर बुजुर्ग मां को हॉस्पिटल ले गया बेटा, डॉ. ने कहा- ये मर चुकी हैं, बेटे ने दान कर दी बॉडी…, भांजे को इतना एक्टिव देख मामा को हो गया शक, कर दिया एक्सपोज

आरोपी बेटे ने पुलिस को बताई मां को मारने के पीछे की वजह, क्यों सोते में दबाया गला

रायपुर (छत्तीसगढ़) प्रोफेसर कॉलोनी में रिटायर्ड इंकमटैक्स अफसर हेमाप्रभा बोस (68) को उनके दत्तक बेटे ने ही प्रापर्टी की लालच में गला दबाकर मार डाला। यही नहीं, हत्या के बाद वह शव को निजी अस्पताल ले गया। डाक्टरों ने मृत घोषित किया तो वह शव लेकर घर आ गया, लेकिन किसी को बताया नहीं। अगले दिन कागजी कार्रवाई पूरी कर शव को बुजुर्ग की इच्छा के अनुरूप दान कर दिया। इसके बाद उसने रिश्तेदारों को खबर दी। लेकिन मृतका के भाइयों को शक हुआ। उन्होंने पुलिस से शिकायत की तो वृद्धा के शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। पीएम रिपोर्ट में गले और शरीर में चोटों के निशान पाए गए। तब युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उसने हत्या कबूल कर ली।

डेढ़ साल की उम्र में लिया था गोद, उसी ने दे दी मौत
सीएसपी कृष्णा पटेल ने बताया कि प्रोफेसर कॉलोनी की 68 साल की हेमाप्रभा बोस बरसों पहले पति से अलग हुई थीं और इनकम टैक्स की रिटायर्ड अफसर थीं। उन्होंने सुदीप बोस को डेढ़ साल की उम्र में गोद लिया था, जो अब 23 साल का हो गया है। वह कॉलेज में पढ़ाई कर रहा है। हेमप्रभा ने अपनी पूरी प्रॉपर्टी भी उसी के नाम कर दी थी। वह बीमार चल रही थीं।

यह भी पढ़ें :- महिला को नंगा कर योनि में डालते थे मिर्च और नमक

परिजन ने बताया कि वह सुदीप को पढ़ाई करने के लिए हमेशा कहती थीं। पढ़ाई और कॅरियर को लेकर उनके बीच विवाद होता था। सुदीप मां पर चिड़चिड़ाने लगा था। वह जानता था कि हेमाप्रभा की मौत के बाद पूरी प्रॉपर्टी उसकी हो जाएगी। पुलिस ने बताया कि 25 फरवरी की रात भी उसका मां से पढ़ाई-लिखाई पर ही विवाद हुआ। उसने सोते हुए अपनी मां का बिस्तर में ही गला घोट दिया। इसके बाद वह घबरा गया, फिर शव को कार में रखकर रामकृष्ण अस्पताल ले गया। वहां डॉक्टरों को बताया कि मां की तबीयत खराब है। वह बेहोश हो गई। डॉक्टरों ने इलाज के बाद हेमाप्रभा को मृत घोषित कर दिया।

सब कुछ दत्तक पुत्र के ही नाम
पुलिस के अनुसार हेमप्रभा ने सुदीप को अपना वारिस घोषित किया था। उनको हर महीने पेंशन मिलती थी। खाते में भी पैसे जमा है। प्रोफेसर कॉलोनी में खुद का मकान भी है। चर्चा है कि सुदीप का प्रॉपर्टी को लेकर ही अपनी मां से विवाद चल रहा था। यही विवाद हत्या की वजह बना।

यह भी पढ़ें :- खौफनाक सच : पुरुषों के सामने बदलवाएं कपड़े, निजी अंगों में…

रिश्तेदारों को हुआ था शक
सुदीप रात में ही शव लेकर घर आ गया और रातभर बगल में बैठा रहा। सुबह वह शव लेकर मेडिकल कॉलेज गया। वहां दस्तावेजी प्रक्रिया पूरी की और शव को दान करके आ गया। उसके बाद रिश्तेदारों को हेमप्रभा की मौत की सूचना दी। हेमाप्रभा अपने भाई के साथ रहती है। उनके भाई ने नाराजगी जताई कि उसे मौत के बारे में क्यों नहीं बताया। उन्हें शक हुआ, तो पुलिस में सूचना दी। पुलिस मेडिकल कॉलेज पहुंची और शव को कब्जे में लिया। उसका अंबेडकर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया। शरीर में चोट के निशान पाए गए। पुलिस को शक हुआ कि मृतका के साथ मारपीट हुई है। आरोपी को पूछताछ के लिए बुलाया गया। वह गुमराह करने लगा। पुलिस ने उसे पूछताछ के बाद छोड़ दिया था। दोबारा उसे बुलाया गया और सख्ती से पूछताछ की गई, तो उसने हत्या की बात कबूल कर ली।

यह भी पढ़ें :- पति बनाता अप्राकृतिक संबंध, नंदोई ने की शर्मनाक हरकत

यह भी पढ़ें :- बलात्कार के बाद लड़की के पूरे शरीर पर लगाया लाल मिर्च…

यह भी पढ़ें :- हरियाणाः अपहरण के बाद नाबालिग छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म, एक…

यह भी पढ़ें :- यौन संबंध से इंकार पर देवर ने किया हमला, मामला दर्ज

यह भी पढ़ें :- इन सेक्स पोजिशन्स को पसंद नहीं करतीं ज्यादातर महिलाएं


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें