मासूम ने कहा, ये अंकल पहले और ये अंकल बाद में आए थे

63
mandsaur case innocent girl starts trial in court,,mandsaur,indore

मंदसौर (एमपी)। गैंगरेप का शिकार इंदौर में इलाजरत 7 वर्षीय बच्ची पहली बार मंगलवार को कोर्ट के सामने पेश हुई। कड़ी सुरक्षा के बीच बंद कमरे में हुई सुनवाई के दौरान मासूम ने दोनों दरिदों को पहचान लिया और पूरी घटना बताई। उसने दरिदों के खिलाफ बयान दतेे हुए बताया- ‘ये अंकल पहले और ये अंकल बाद में आए थे।’ सुनवाई के दौरान पहले चरण में मासूम व उसके माता-पिता के बयान हुए और दूसरे चरण में दादी, चचेरे भाई व चाचा के हुए।

वकीलों ने बच्ची से क्रॉस किया तब भी बच्ची अपने बयान पर कायम रही…

– 26 जून को स्कूली छात्रा का अपहरण कर ज्यादती करने के मामले में पुलिस ने आसिफ व इरफान को गिरफ्तार किया था।

– 30 जुलाई से शुरू हुई ट्रायल के दूसरे दिन मंगलवार को सबसे पहले बच्ची की मां ने बयान दिए। कोर्ट को उन्होंने बताया- एम्बुलेंस में बच्ची ने उन्हें क्या बताया था और उन्हें घटना की जानकारी कैसे हुई।

– दोपहर 12 बजे पीड़ित बच्ची के बयान हुए। उसके अंदर गजब का कॉन्फिडेंस था। उसने न सिर्फ आरोपियों की पहचान की बल्कि आरोपी पक्ष के वकीलों ने द्वारा क्रॉस सवाल पर भी वो अपने बयान पर कायम रही। उसने कोर्ट को पूरी घटना बताई। सीसीटीवी कैमरे में बच्ची की पहचान करने वाले चचेरे भाई व चाचा ने भी बयान दिए।

बच्ची ने पूरे कॉन्फिडेंस के साथ दिया बयान

डीडीपी बीएस ठाकुर ने बताया बच्ची ने बहुत ही कॉन्फिडेंस के साथ बयान दिए। उसने एलबम से व फिजिकल रूप से आरोपियों को पहचाना है। इस दौरान उसने कोर्ट को बताया- यह अंकल पहले आए थे और यह अंकल बाद में आए। डीडीपी ठाकुर के अनुसार, पूरे मामले में सबसे अहम बयान बच्ची के ही हैं। उसने पूरी निडरता से बयान दिए।