मरने वाले में एक शातिर चोर भी था, जिसपर दर्ज है 7 FIR

58
aajtaklives news, news in hindi, hindi news, crime news in hindi, Bihar Sharif Islampur news mob lynching in bihar nalanda two killed,Bihar, Mob Lynching, Islampur, Bihar Sharif, Bakhtiyarpur, Patna

एक और मॉब लिंचिंग: भीड़ ने दो लोगों को खंभे से बांधकर तब तक पीटा, जब तक वो मर नहीं गए…, खुद के बनाए स्मार्ट प्लान में फंस गए चोर

बिहारशरीफ/इस्लामपुर. भीड़ के हाथों मारे गए अजय इलाके का शातिर चोर था। उसपर इस्लामपुर थाने में 7 एफआईआर दर्ज है। इसी तरह दूसरे मृतक पर भी बख्तियारपुर थाना में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। एसपी के आदेश पर पुलिस ने भीड़ पर एफआईआर दर्ज कर, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है। जिले में इस माह मॉब लिंचिंग की यह दूसरी घटना है। बीते 2 जनवरी को दीपनगर थाना क्षेत्र के मघड़ासराय गांव में हत्या से आक्रोशित हुई भीड़ ने दो लोगों की पीटकर जान ले ली थी।

पड़ोसियों के दरवाजे बंद कर बदमाश कर रहे थे चोरी

देर रात करीब पांच बदमाश गांव के सिद्धेश्वर और मनोज कुमार के घर में दाखिल हुए थे। मनोज के घर में ताला लगा था। अंदर दाखिल होने के पहले बदमाशों ने पड़ोसियों के घर के दरवाजे को बाहर से बंद कर दिया। देर रात एक ग्रामीण अपने घर का दरवाजा खोल रहे थे। बाहर से दरवाजा बंद पाकर उन्हें संदेह हो गया कि बदमाश गांव में चोरी कर रहे हैं। इसके बाद छत के रास्ते वह घर से बाहर निकले। उसी दौरान उनकी नजर बंद पड़े घर के टूटे ताले पर गई। आहट आने पर ग्रामीण भांप गए कि बदमाश अंदर चोरी कर रहे हैं। इसके बाद ग्रामीण ने अन्य लोगों को इसकी जानकारी दी। मौके पर दर्जनों लोग जमा हो गए। जिस घर में बदमाश घुसे थे, उसके दरवाजे को भीड़ ने बंद कर दिया। बदमाशों को दरवाजा बंद किए जाने की भनक लगी तो वह छत के रास्ते फरार होने लगे।

यह भी पढ़ें : गैंगरेप के बाद नाबालिग को परिवार के सामने जिंदा जलाया

तीनों गोशाला में छिपे थे खदेड़ कर भीड़ ने पकड़ा

गांव में आएदिन हो रही चोरी की घटना से भीड़ खासी आक्रोशित थी। भीड़ ने भाग रहे तीन बदमाशों को पकड़ लिया, जबकि दो फरार हो गए। भागने के दौरान तीनों बदमाश एक गोशाला में छुपे थे, जहां से पकड़े गए। आक्रोशित दर्जनों ग्रामीणों ने तीनों बदमाशों को सीमेंट के खंभे में बांध दिया और लात-घूंसे, लाठी-डंडे से उनकी पिटाई करने लगें। भीड़ घंटों बदमाशों को पीटती रही।

फजीहत झेल पुलिस ने बदमाशों को लिया हिरासत में : घटना की सूचना पाकर स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस भीड़ की फजीहत झेल बदमाशों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराकर हिरासत में लिया। इसके बाद पुलिस तीनों जख्मी को स्थानीय केंद्र में इलाज कराकर बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल लाई। जहां इलाज के क्रम में अजय की मौत हो गई। इसके बाद दोनों जख्मी को पटना रेफर कर दिया गया। जहां सद्दाम की मौत इलाज के दौरान हुई।

यह भी पढ़ें : गैंगरेप के बाद नाबालिग को परिवार के सामने जिंदा जलाया

17 दिन के अंदर जिले में माब लिंचिंग की यह दूसरी घटना घट गई

महीने के अभी सत्रह दिन बीते हैं और जिले में माब लिंचिंग की दूसरी घटना घट गई। इस बार इस्लामपुर थाना क्षेत्र के वरडीह गांव में बुधवार की रात बंद पड़े घर में चोरी कर रहे तीन बदमाश ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गए। भीड़ ने बदमाशों को सीमेंट के खंभे में बांधकर उनकी बेरहमी से पिटाई की। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस जख्मी बदमाशों को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाई। जहां इलाज के दौरान एक की मौत हो गई। दो अन्य जख्मी को इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया, जहां दूसरे ने भी दम तोड़ दिया। तीसरे जख्मी बूढ़ानगर निवासी सुरेश प्रसाद के पुत्र संटू की हालत भी नाजुक बताई जा रही है।

इस माह दूसरी बार भीड़ ने कानून को लिया हाथ में

जिले में इस माह यह दूसरी मॉब लिंचिंग की घटना है। इससे पूर्व 2 जनवरी को दीपनगर थाना क्षेत्र के मघड़ा सराय गांव में हत्या से गुस्सायी भीड़ ने दो लोगों को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया था।

यह भी पढ़ें : रंडुआ प्रथा, जिसमें मर्द को भाभी के साथ सोने की थी…

आए दिन हो रही चोरी से भीड़ हुई उन्मादी

ग्रामीण चिंता देवी, पूर्व सरपंच ब्रह्मदेव प्रसाद समेत अन्य ने बताया कि गांव में आए दिन चोरी की घटना हो रही थी। एक जनवरी को बदमाशों ने पड़ोसी के दरवाजे को बाहर से बंद कर आधा दर्जन घरों में चोरी की। लगातार हो रही चोरी की घटना से भीड़ उन्मादी हुई और बदमाशों की बेहरमी से पिटाई की।

डीएम-एसपी ने कहा : दोषियों पर होगी त्वरित कार्रवाई
डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने बताया कि चोरी की नीयत से कुछ बदमाश बंद घर में घुसे थे। भीड़ ने तीन लोगों को पकड़ कर उनकी पिटाई की। जिनमें दो की इलाज के दौरान मौत हो गई। भीड़ पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस कार्रवाई में जुट गई है। एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने बताया कि आरोपियों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। दोषियों पर त्वरित कार्रवाई होगी। मृतक अजय पर सात मामला दर्ज है। सद्दाम पर भी पटना जिला के बख्तियारपुर थाना में कई आपराधिक मामला दर्ज है।

यह भी पढ़ें : रंडुआ प्रथा, जिसमें मर्द को भाभी के साथ सोने की थी…

कब-कब हुई मॉब लिंचिंग

को नालंदा थाना क्षेत्र के नीरपुर गांव में भीड़ ने निजी स्कूल के संचालक देवेन्द्र प्रसाद सिन्हा की आंखें निकाल उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। स्कूल छात्रावास में रहने वाले दो छात्रों की मौत के बाद भीड़ आक्रोशित हुई थी। सैकड़ों की भीड़ स्कूल में घुसकर आगजनी करते हुए तोड़फोड़ कर रही थी। संचालक ने भीड़ का समझाने का प्रयास किया तो भीड़ ने संचालक की जान ले ली। इस मामले में कई अबतक फरार हैं।

महिलाओं ने पुलिस से लगाई सुरक्षा की गुहार

पिटाई से दो युवकों की मौत के बाद एसपी गांव पहुंचकर घटना की जांच की। एसपी ने ग्रामीणों से घटना के बाबत विस्तार से जानकारी ली। मौके पर डीएसपी, थानाध्यक्ष समेत कई पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे। उधर गांव में पीट-पीटकर दो बदमाशों की हत्या के बाद ग्रामीणों को भय सता रहा है। लोग आशंकित हैं कि बदमाशों के सहयोगी बदले की भावना में गांव में हमला कर किसी अप्रिय घटना को अंजाम दे सकते हैं। गांव की दर्जनों महिलाएं सुरक्षा की गुहार लेकर थाना पहुंची। गांव में पुलिस तैनात है।

यह भी पढ़ें : अवश्य पढ़ें, हम संभोग यानि सेक्स क्यों करते हैं?


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें