मन की शांति के लिए आश्रम गई थी 15 साल की लड़की, कपड़ों पर मिले हैं खून के दाग

163
jamshedpur news, minor molested, bharat sevashram sangh,jamshedpur, Sonari, Bharat Sevashram Sangha, Kolkata, Jabalpur

जमशेदपुर। भारत सेवाश्रम संघ के संन्यासी सुजीत महाराज के खिलाफ नाबालिग के बयान पर गुरुवार को रेप का केस दर्ज कर लिया गया। पीड़िता ने पुलिस रिपोर्ट में बताया कि घर में खाना बनाने को लेकर भाभी से कहासुनी हुई थी। आश्रम गई ताकि मन शांत हो जाए लेकिन उसे नहीं पता था वो वहां से जिंदगी बर्बाद करके लौटेगी। अकेली पाकर संन्यासी ने उसे हवस का शिकार बनाया। पीड़िता ने FIR में जो बताया उसे हूबहू यहां पढ़िए…

”हमलोग किराये के मकान में रहते हैं। 18 दिसंबर को घर में खाना बनाने को लेकर भाभी से कहासुनी हुई। इससे परेशान होकर दोपहर एक बजे भारत सेवाश्रम संघ में मंदिर के पास बैठी थी कि शाम काे आरती से शांति मिलेगी और मन शांत होने के बाद घर चली जाऊंगी। तभी सेवाश्रम के सुजीत महाराज आए और करीब दो बजे मुझे अपने कमरे में ले गए। उन्होंने समोसा और अंगूर खिलाया। पानी पिलाया। फिर मेरे शरीर से गंदी हरकत करने लगे। मेरे विरोध करने पर जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद मेरे कपड़े उतार दिए और पलंग पर जबरन संबंध बनाने लगे। इस बीच मुझे खोजते हुए शाम 5 बजे मेरी भाभी आ गई। उनके आने पर मैं बाथरूम में भागकर कपड़े पहनने लगी। मैंने कपड़ा पहन लिया तो सुजीत महाराज ने दरवाजा खोला। वे भाभी को उल्टा-पुल्टा समझाने लगे। बोले- क्यों मारते-पीटते हो। खाना क्यों बनवाते हो। इसके बाद भाभी काे 10 पैकेट बिस्किट, कुरकुरे, एक शर्ट व एक टी-शर्ट देकर मुझे उनके साथ भेज दिया। घटना से दुखीः होने के कारण मैं रात में खाना खाए बिना सो गई। 19 दिसंबर शाम 5 बजे मैंने हिम्मत कर भाभी को सारी घटना बताई। दोषी सुजीत महाराज पर कानूनी कार्रवाई की जाए।”

भारत सेवाश्रम संघ से बर्खास्त हुए महाराज
भारत सेवाश्रम संघ के सहायक सचिव अजीत महाराज ने बताया, सुजीत महाराज को बर्खास्त कर दिया गया है, ताकि निष्पक्ष जांच हो सके। मामले की जानकारी कोलकाता मुख्यालय को दी गई है। सुजीत 17 साल से संघ में सेवा दे रहे हैं। पहले ऐसा आरोप नहीं लगा। नाबालिग के आरोप पर विश्वास नहीं होता। पुलिस ने भी बिना बताए उनको गिरफ्तार कर लिया। सुजीत महाराज ने एक महीना पहले किसी सहयोगी से आश्रम में 7 सीसीटीवी कैमरे लगवाए थे। एक सीसीटीवी कैमरा सुजीत महाराज ने अपने कमरे में भी लगवाया था, जिसे वे खुद ऑपरेट करते थे।

कपड़ों पर मिले खून के दाग
पुलिस ने पीड़िता की मेडिकल जांच सदर अस्पताल में कराई। मेडिकल रिपोर्ट अभी नहीं आई है, लेकिन बताया गया कि पीड़िता को ब्लीडिंग हुई है। कपड़ों पर खून के दाग मिले हैं।

सीसीटीवी में संन्यासी की हरकत संदिग्ध दिखी
पुलिस ने संघ परिसर में लगे 7 सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग की जांच की। सीसीटीवी फुटेज में बुधवार दोपहर करीब 2 बजे पीड़िता संन्यासी सुजीत महाराज के कमरे में जाती दिखी। इसके बाद शाम करीब 5 बजे पीड़िता की भाभी सुजीत महाराज के कमरे का दरवाजा खटखटाते दिखी। थोड़ी देर बाद पीड़िता भाभी के साथ संन्यासी के कमरे से बाहर निकली। इसके पहले 3 घंटे तक पीड़िता एक बार भी कमरे से बाहर नहीं निकली। हालांकि, सुजीत महाराज एक बार अपने कमरे से बाहर निकलते और फिर अंदर जाते दिखे। पुलिस ने उक्त सीसीटीवी फुटेज जब्त कर लिया है। पुलिस के अनुसार, आरोपी संन्यासी की गतिविधियां संदिग्ध लग रही हैं। भारत सेवाश्रम संघ में सुजीत के कार्यालय के बाहर एक सीसीटीवी कैमरा लगा है, जिसका मॉडम कमरे में लगा है। कमरे से ही सीसीटीवी कैमरा ऑपरेट किया जाता था।

पीड़िता के भाई ने कहा : सिटी एसपी ने थाना से धक्का देकर निकाला, सिटी एसपी बोले: आरोप गलत
सोनारी थाना परिसर में गुरुवार को उस समय गहमागहमी हो गई, जब सिटी एसपी ने दुष्कर्म पीड़िता के भाई को थाना प्रभारी के कक्ष से धक्के मारकर बाहर निकाल दिया। पीड़िता के भाई ने कहा- कैंसर पीड़ित दोनों बच्चों का इलाज कराने जबलपुर से जमशेदपुर आए थे, लेकिन संन्यासी ने जिंदगी तबाह कर दी। वे न्याय के लिए पुलिस के पास गए तो पुलिस भी ज्यादती कर रही है। पुलिस आरोपी संन्यासी को बचाने में जुटी है। इसी कारण उसे जेल नहीं भेज रही है। उन्होंने सिटी एसपी द्वारा गालीगलौज और धक्का देने का आरोप लगाया। पीड़िता के भाई के समर्थन में भी सोनारी के कुछ लोग थाना में जुट गए। इस मामले को लेकर सोनारी थाना में तीन घंटे तक गहमागहमी बनी रही। दूसरी ओर, सिटी एसपी ने धक्का-मुक्की व गालीगलौज से इनकार किया। उन्होंने बताया- पीड़िता का भाई पुलिस की जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। वह गुरुवार की सुबह से आवेदन बदलने के लिए दबाव बना रहा है।

सिटी एसपी प्रभात कुमार के अनुसार, आरोपी संन्यासी सुजीत महाराज से पूछताछ की जा रही है। हर बिंदु पर जांच की जा रही है। जांचोपरांत संन्यासी को जेल भेजा जाएगा।
सिटी एसपी प्रभात कुमार


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें