बोली- पति को मारने का कोई अफसोस नहीं, बस अब मुझे एक ही चिंता है

184
Madhya Pradesh news in hindi,Gwalior News,Gwalior samachar,Madhya Pradesh News,Madhya Pradesh samachar,Madhya Pradesh news in hindi,aajtak live Madhya Pradesh news, Gwalior News,मध्य प्रदेश न्यूज़,मध्य प्रदेश समाचार,ग्वालियर न्यूज़,ग्वालियर समाचार,आजतक लाइव,मध्य प्रदेश न्यूज़ इन हिंदी,आजतक लाइव,आजतक लाइव इ पेपर, Gwalior Madhya Pradesh News in Hindi: saree trader murder case wife and her friend,Madhya Pradesh, Sari

प्रेमी के जन्मदिन पर पति को मारने का बनाया था प्लान, एक साल से रोज उसे ठिकाने लगाने का ढूंढ रही थी मौका, बेखबर पति नहीं समझ पाया पत्नी की खौफनाक साजिश, घर पर छिपा रखा था मौत का सामान

बोली- पति को मारने का कोई अफसोस नहीं, बस अब मुझे एक ही चिंता है

ग्वालियर (मध्य प्रदेश) साड़ी कारोबारी हेमंत जैन की हत्या किसी एक दिन की साजिश नहीं थी, बल्कि यह साजिश पिछले साल 24 मार्च के बाद बनी। 24 मार्च को मृदुल गुप्ता का जन्मदिन था। उसी दिन पत्नी की मृदुल से नजदीकी देखकर कारोबारी ने उसके घर आने पर पाबंदी लगा दी थी। इसे लेकर मृदुल ने सीधे कारोबारी को धमकाया भी था। इसी दिन के बाद से पत्नी ने मृदुल के साथ मिलकर इस बार 24 मार्च से पहले उसे रास्ते से हटाने की प्लानिंग कर ली थी। इसी प्लानिंग के तहत उसकी हत्या कर दी, जिससे वह मृदुल के साथ रह सके। यह खुलासा दोनों ने पूछताछ के दौरान पुलिस से किया।

यह भी पढ़ें :-13 महीने तक होता रहा किशोरी का रेप, बाहर आई तो…

ओल्ड हाईकोर्ट के सामने स्थित शांति मोहन रेसीडेंसी के फ्लैट नंबर 208 में रहने वाले साड़ी कारोबारी हेमंत जैन की उन्हीं के फ्लैट में हत्या कर दी गई थी। उनकी पत्नी प्रीति जैन ने इसे हादसे का रूप देने की कोशिश की थी। जबकि सीसीटीवी कैमरों के फुटेज जब सामने आए तो फ्लैट में दो युवक आते दिखे। इसके बाद करीब डेढ़ घंटे बाद एक युवक हाथ में थैला लेकर बाहर निकलता दिखा। इसके तीन मिनट बाद ही प्रीति फ्लैट से बाहर निकली, फिर कपड़े बदलकर पड़ोसन को बुलाकर लाई। इससे प्रीति संदेह के घेरे में आ गई थी। फ्लैट से डेढ़ घंटे बाद निकल रहे युवक की पहचान मृदुल गुप्ता निवासी दानाओली के रूप में हुई थी। पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। दूसरे युवक आदेश को राउंडअप कर लिया। इस बीच पता लगा कि मृदुल और प्रीति के बीच प्रेम प्रसंग के चलते हेमंत की हत्या दोनों ने मिलकर की है। पुलिस ने मंगलवार को मृदुल को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों ने पूछताछ में यह नए राज खोले…
प्रीति अपने दोनों बच्चों व मृदुल के साथ रहना चाहती थी। पिछले साल 24 मार्च को मृदुल के जन्मदिन पर नजदीकी देखकर पति को सब समझ आ गया था। इस पर उसने मृदुल के घर आने पर पाबंदी लगाई। इसके बाद घर में झगड़े भी बढ़ गए ताे हेमंत ने फ्लैट बेच दिया।

– इस जन्मदिन तक हेमंत को रास्ते से हटाने की प्लानिंग कर ली थी। 20 अगस्त को भी सोते में हेमंत का मुंह तकिए से दबाकर हत्या का प्रयास किया था।
– 15 मार्च को हेमंत सूरत से लौटकर आया। 13 मार्च को प्रीति और मृदुल ने उसे मारने की पूरी प्लानिंग कर ली। इस मामले में एक एमआर का नाम आया है, जिसने प्रीति को नींद की गोलियां लाकर दी थीं।

कोई अफसोस नहीं…सिर्फ बच्चों की चिंता
प्रीति को हेमंत की मौत का कोई अफसोस नहीं है। वह सिर्फ अपने बच्चों के लिए चिंता कर रही है। पुलिस से पूछताछ के दौरान भी बार-बार बच्चों के बारे में पूछ रही थी। वह बोल रही थी कि मृदुल और बच्चों के साथ वह जीवनभर रहना चाहती थी। वहीं मृदुल बार-बार बोलता रहा, एक गलती ने जीवन खराब कर दिया।

बहुत भरोसा करता था हेमंत, बच्चे बोलते थे चाचा
हेमंत मृदुल पर बहुत भरोसा करता था। उसके दोनों बच्चे खुशी, वंश उसे चाचा बोलते थे। कई बार दोनों बच्चे उसके साथ घूमने जाते। हेमंत अपनी गैरमौजूदगी में घर की जिम्मेदारी मृदुल पर छोड़ जाता था, लेकिन उसका विश्वास पिछले साल टूट गया। इसके बाद उसने कुछ ऐसे मैसेज भी प्रीति के मोबाइल में देखे जो आपत्तिजनक थे। दोनों बच्चों और हेमंत ने पिछले साल मृदुल का जन्मदिन भी अपने घर मनाया था। इसका वीडियो भी वंश ने फेसबुक पर पोस्ट किया थी। इसके बाद तो संबंध इतने बिगड़ गए कि हेमंत ने कुछ दिनों पहले यह तक लिखकर रखा था कि अगर उसकी मौत होती है तो प्रीति जिम्मेदार होगी।

यह भी पढ़ें :-एक गलत संगत से बर्बाद हो गई 8वीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा की LIFE


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें