फैमिली के 6 मेंबर्स की रहस्यमयी मौत, घर का मुखिया चौथी मंजिल से गिरा लेकिन न ज्यादा खून निकला न ही सिर में आई चोट

89
hazaribagh death mystery

हजारीबाग (झारखंड).दिल्ली के बुराड़ी कांड की आंच अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि अब ऐसा ही चौंकाने वाला मामला झारखंड में सामने आया है। यहां के हजारीबाग में रविवार सुबह एक फ्लैट से माहेश्वरी परिवार के 6 सदस्यों की संदिग्ध अवस्था में लाश बरामद की गई। मृतकों में दो पुरुष, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। मौके से लिफाफा बंद 6 सुसाइड नोट भी बरामद हुए हैं। इनमें मैथ्स के फॉर्मूले की तरह कर्ज से परेशान होकर खुदकुशी करने की बात लिखी गई है।

आत्महत्या या हत्या ? उठ रहे सवाल…

– मृतकों की पहचान महावीर महेश्वरी (70), उनकी पत्नी किरण देवी (65), बेटा नरेश अग्रवाल (40), उनकी पत्नी प्रीति अग्रवाल (38), नरेश का बेटा अमन (10) और बेटी अन्वी (8) के रूप में की गई। नरेश को छोड़कर बाकी सभी के शव घर के अंदर मिले। महावीर फंदे पर लटके थे, पर उनकी लुंगी में खून लगा मिला।

नरेश के तलवे पर जख्म कैसे बने?
– परिवार के मुखिया महावीर माहेश्वरी के बेटे नरेश के चौथी मंजिल से कूदने की बात सामने आ रही है। लेकिन जहां उनका शव मिला, वहां न तो अधिक खून फैला था और न ही उनके सिर में कोई चोट थी। सिर्फ हाथ फ्रैक्चर हुआ। इसके अलावा तलवे में दो जख्म थे। जहां खून निकलने के निशान थे। सवाल ये भी है कि आसपास कोई रॉड या कील भी नहीं मिली, जिससे पैर में इस तरह के जख्म बनते।
– इसके अलावा फंदे से लटके महावीर के पैर भी बिस्तर को छू रहे थे, घुटना मुड़ा हुआ था। वहीं, किरण माहेश्वरी का सिर छत की ओर उठा हुआ था। जबकि फंदे में गर्दन फंसने पर सिर नीचे या दायां-बायां हो जाता है। प्रीति का शव बेड पर था। गले में साड़ी का फंदा था।

– बच्ची अन्वी के मुंह से झाग निकलने के निशान थे। वहीं, अमन का गला रेता हुआ था। बच्चे का गला काटने के बाद ब्लेड को बेसिन में धोया गया। अगर परिवार आत्महत्या ही करना चाहता था, तो सबूत मिटाने की कोशिश क्यों? ऐसे में पुलिस हत्या और आत्महत्या दोनों बिंदुओं से मामले की जांच कर रही है।

सुसाइड नोट में क्या ?
– डीआईजी पंकज कंबोज ने बताया, सुसाइड नोट गणित के फॉर्मूले की तरह लिखा गया है। इसमें लिखा है… बीमारी+दुकान बंद+दुकानदारों का बकाया ना देना+बदनामी+कर्ज से तनाव= मौत। लिफाफे के कवर पर लिखा है- अमन को लटका नहीं सकते थे इसलिए उसकी हत्या की।
– एक रिपोर्ट यह भी बताती है कि कमरे से लिफाफा बंद जो छह सुसाइड नोट मिले हैं, उसमें दो अलग-अलग लोगों की लिखावट है। फिलहाल, इसकी जांच की जा रही है। ऐसे में सुसाइड नोट भी सवालों के घेरे में है।

दोस्त से रात 8 बजे हुई थी बातचीत
– महावीर माहेश्वरी के बचपन के दोस्त रहे सत्यनारायण अग्रवाल ने कहा, हर रोज की तरह शनिवार को रात आठ बजे तक महावीर के साथ हमारी बातचीत हुई। उसने अपना हालचाल सब ठीक बताया था। कहा था- बेटा अब दुकान भी आ जा रहा है। तब सब कुछ नार्मल था वे खुश थे। अचानक सुबह की घटना से हैरान हूं। वे ऐसा फैसला ले सकते हैं और उनका परिवार ऐसा कर सकते हैं यह असंभव जैसा लगता है।

नरेश डिप्रेशन में थे, इलाज चल रहा था
– पुलिस के अनुसार, महावीर का यह परिवार काफी सालों से हजारीबाग में रह रहा था। यहां सीडीएम अपार्टमेंट के तीसरी मंजिल पर उनका फ्लैट है। उनके बेटे नरेश का हजारीबाग में ड्राई फ्रूट्स का कारोबार करता था। नरेश काफी डिप्रेशन में थे। उनके चचेरे भाई देवेश अग्रवाल ने बताया कि उनका रांची में इलाज भी चल रहा था। करीब दो महीने पहले पूरा परिवार तीर्थ पर भी गया था।
– देवेश ने बताया कि नरेश के करीब 50 लाख रुपए मार्केट में फंसे थे, जो वापस नहीं मिल रहे थे। लिहाजा, उन पर काफी कर्ज हो गया था।

क्या बोले पड़ोसी?
– पड़ोसी वैद्य राजेश श्रीकंठ ने बताया, अच्छा परिवार था। सभी मिलनसार थे। यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। इसकी बारीकी से जांच होनी चाहिए। नौकर रिजवान एवं तिलक राम इस परिवार में घटी घटना के बाद काफी विलाप कर रहे थे। इन दोनों का कहना था कि यही परिवार हमलोगों के लिए सबकुछ था। बेटे की तरह प्यार करते थे। अब हम कहां जाएंगे।

– ‘मालिक पैसे की तंगी को लेकर परेशान रहते थे। फंसा हुआ पैसा लाने के लिए चिट्ठा देकर भेजते थे। लेकिन वहां से खाली हाथ लौटना पड़ता था। कमेटी का भी पैसा ये नहीं जमा कर पा रहे थे।’

क्या है बुराड़ी डेथ मिस्ट्री ?
– दिल्ली में बुराड़ी के संतनगर में 1 जुलाई की सुबह एक ही परिवार के 11 लोग घर में मृत मिले। घर की पहली मंजिल पर 77 साल की नारायण देवी और उनके दो बेटों का परिवार रहता था। सभी की फंदे से लटकने से मौत हुई थी।
– नारायण देवी, उनके बेटे भुवनेश उर्फ भूप्पी (50) और ललित (45), भुवनेश की पत्नी सविता (48) और बच्चे नीतू (25), मोनू (23) व ध्रुव (15), ललित की पत्नी टीना (42) और इकलौते बेटे शिबू उर्फ शिवम (15) का शव मिला।
– यहीं रहने वाली नारायण की विधवा बेटी प्रतिभा (57) और 33 साल की दोहती प्रियंका भी मृत मिलीं। प्रियंका की 17 जून को सगाई हुई थी। इस साल के आखिर तक उसकी शादी होनी थी।