निजी अंगों में छिड़की जाती थी मिर्ची शेल्टर होम से छुड़ाई गई बच्चियों का आरोप

126
Dwarka shelter home, Girls rescue from Dwarka shelter home, Girls Abused Chilli Powder in Private Parts, Private Parts, Chilli Powder in Private Parts, Delhi Commission for Women, DCW, द्वारका, द्वारका शेल्टर होम, द्वारका के शेल्टर होम से बच्चियों को छुड़ाया, बच्चियों का आरोप निजी अंगों में छिड़की जाती थी मिर्ची, निजी अंग, दिल्ली, दिल्ली महिला आयोग,Hindi News, News in Hindi,aajtak lives news, aajtak lives hindi news

दिल्ली महिला आयोग (Delhi Commission for Women) की टीम ने गुरुवार को द्वारका के एक निजी शेल्टर होम (Dwarka shelter home) (आश्रय गृह) पर छापा मारा। टीम यहां रखी गई 6 से 15 साल तक की लड़कियों के साथ की जा रही क्रूरता की बात जानकर दंग रह गई।

आरोप है कि शेल्टर होम संचालक और कर्मचारी सजा के रूप में बच्चियों और किशोरियों के निजी अंगों में मिर्च तक छिड़क देते थे। आयोग ने आरोपियों के खिलाफ जेजे औरपॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया है। दरअसल, दिल्ली सरकार के निर्देश पर दिल्ली महिला आयोग ने राजधानी के सरकारी और निजी शेल्टर होम की जांच व सुधार की सलाह देने के लिए विशेषज्ञ समिति गठित की थी।

समिति ने 27 दिसंबर को नाबालिग लड़कियों के लिए चल रहे द्वारका के एक निजी शेल्टर होम का दौरा किया। टीम में शामिल आयोग की सदस्या प्रोमिला गुप्ता, फिरदौस खान, वंदना सिंह व बाहरी सदस्या ऋतु मेहरा ने यहां रहने वाली 6 से 15 साल की लड़कियों से बात की। लड़कियों ने बताया कि उनसे बर्तन-कपड़े धोने के अलावा शौचालय भी साफकराए जाते हैं।उन्हें छोटी बच्चियों की देखभाल भी करनी पड़ती थी। यहां रह रही 22 लड़कियों के लिए एक ही रसोईया है। उन्होंने खाने की गुणवत्ता भी खराब बताई।

पुलिस को जानकारी दी : इसके बाद समिति ने दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल को इसकी सूचना दी। इस पर मालीवाल भी रात 8 बजे शेल्टर होम पहुंची। उन्होंने द्वारका के पुलिस उपायुक्त से बात की और तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम सादी वर्दी में वहां पहुंची। इस बारे में महिला एवं बाल विकास मंत्री को भी जानकारी दी गई। इसके बाद विभाग के अधिकारी भी यहां पहुंचे।

लड़कियों की सुरक्षा के लिए पुलिस तैनात की: सरकार इस मामले में जांच बैठाने पर विचार कर रही है। लड़कियों की सुरक्षा के लिए सरकार ने दिल्ली महिला आयोग की काउंसलर की एक टीम और सादी वर्दी में दिल्ली पुलिस के जवानों को तैनात कर दिया है।

द्वारका सेक्टर-23 पुलिस ने जेजे एक्ट और पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है। शेल्टर होम के कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है। पीड़ितों के बयान होने के बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी।

द्वारका के पुलिस उपायुक्त अल्टो अल्फोंसो ने कहा कि समिति यह देखकर चकित थी कि शेल्टर होम में छोटी बच्चियों को बहुत कड़ी सजा दी जाती थी। लड़कियों ने बताया कि अनुशासन में रखने के नाम पर शेल्टर होम वाले उन्हें जबरन मिर्च खिलाते हैं। इससे ज्यादा डरावना यह था कि शेल्टर होम की महिला स्टाफ सजा के नाम पर बच्चियों के निजी अंगों में मिर्ची तक डाल देती थीं। इससे सब लडकियां डरी हुई थीं।


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें