दूध लेने जा रही थी युवती, तभी मनचलों ने पकड़ा और ले गए पार्क में

566
women abuse

एक जानकारी के मुताबिक पुरे भारत में दिल्ली एक ऐसा शहर हैं जहाँ लड़कियों से होने वाली छेड़छाड़ सबसे अधिक होती हैं. यहाँ आपको हर गली मोहल्ले के बाहर कुछ मनचले लड़के आवारागर्दी करते हुए मिल जाएंगे. जब भी कोई लड़की इनके सामने से गुजरती हैं तो ये इन पर गंदी कमेन्ट करते हैं या छेड़छाड़ शुरू कर देते हैं. कई मामलो में तो ये छेड़छाड़ रेप तक पहुँच जाती हैं. ऐसा ही एक मामला दिल्ली के सुल्तानीपुर में देखने को मिला हैं. यहाँ दूध लेने आई एक युवती को कुछ मनचलों ने पकड़ लिया और पार्क में लेकर गंदा काम करने लगे लेकिन तभी कुछ ऐसा हुआ कि युवती उन बदमाशो की हवस का शिकार होने से बच गई. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…

लड़की को जबरन पार्क में ले गए मनचले

women abuse

सुल्तानीपूरी इलाके की रहने वाली 18 वर्षीय लड़की बीते रविवार दूध लेने के लिए घर के पास की दूकान में गई थी. वो जैसे ही रास्ते में पार्क के नजदीक पहुंची तो वहां मुकेश उर्फ़ मुक्की अपने चार अन्य दोस्तों के साथ खड़ा हुआ था. ये लोग लड़की पर अश्लील कमेन्ट करने लगे. जब लकड़ी ने इस बात का विरोध किया तो इन चारों युवको ने उसे दबोच लिया. ये लोग लड़की को पकड़ कर पार्क ले जाने लगे.

ऐसे बची लड़की की इज्जत

women abuse
ये मनचले लड़की को लेकर पार्क के गेट तक पहुंचे ही थे कि लड़की के बुआ के बेटे ने इन्हें देख लिया. अपनी बहन को मुसीबत में देख भाई उसे बचाने आया और उन लड़को से भीड़ गया. इस प्रक्रिया में युवकों ने युवती के कपड़े भी फाड़ दिए. इस बीच लड़ाई झगड़े में युवको ने लड़को को छोड़ दिया और उसके भाई को मारने लगे. मुकेश ने अपनी बीयर की बोतल से लड़की के भाई के सिर पर तेज़ वार भी किया जिसके चलते वो घायल हो गया.

लड़की के परिजनों से भी हुई मारपीट
इधर तब तक लड़की भाग के अपने घर वालो को बुला लाइ. लेकिन इन युवको ने लड़की के परिजनों की भी पिटाई कर दी. बाद में ये सभी आरोपी घटना स्थल से भाग गए. झगड़े में घायल लड़की के घर वालो को संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया. यहाँ इन सभी का इलाज़ चल रहा हैं. उधर पुलिस भी सुचना मिलते अस्पताल पहुँच गई और सभी का बयान ले लिया. फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही हैं.

परिजनों का यह भी कहना हैं कि आरोपी मुकेश के खिलाफ पहले से कई अपराध दर्ज हैं. साथ ही वो अपने गुंडों से कहकर हमें केश वापस लेने की धमकी भी दे रहा हैं. वो इसे पुरे मामले को झूठा करार देना चाहता हैं.
ये काफी शर्म की बात हैं कि आज भी देश की महिलाएं पूरी आज़ादी के साथ अपने गली मोहल्लो में घूम नहीं पाती हैं. उन्हें रोजाना मुकेश जैसे मनचलों का डर सताता रहता हैं. कई मामलो में तो ये मनचले बच के निकल भी जाते हैं जिसके चले ये आगे और बड़ा अपराध करते हैं. इन लोगो को रोकने के लिए सरकार को बेहद सख्त कानून बनाने की आवश्यकता हैं.