उत्तर प्रदेश : बदायूं में गैंगरेप पीड़िता ने फांसी लगाकर खुदकुशी की

21
Gangrape Victim Suicided,Suicide in Badayun,UttarPradesh,Gang rape in badayun,rape in up,crime in up,गैंगरेप पीड़िता ने की आत्महत्या,बदायूं में रेप,उत्तर प्रदेश,यूपी में रेप

बदायूं: बदायूं के मूसाझाग क्षेत्र में पिछले दिनों कथित रूप से सामूहिक बलात्कार की शिकार हुई एक किशोरी ने अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. खुदकुशी करने वाली लड़की की मां ने बलात्कार के आरोपियों पर धमकाने और समझौता करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया है. वहीं दूसरी ओर पुलिस अधिकारी इस मामले को ऑनर किलिंग से भी जोड़कर जांच में जुट गए हैं. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने यहां बताया कि गत 20 अगस्त को तीन युवकों द्वारा कथित रूप से सामूहिक बलात्कार की शिकार हुई एक लड़की ने गुरुवार को करीब पांच बजे अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतका की मां और भाई ने आरोपी पक्ष पर धमकाने और फैसला करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया और उन्हें आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है. 

कुमार ने बताया कि लड़की के शव का पोस्टमार्टम तीन डॉक्टरों के पैनल के जरिए करवाया जा रहा है. उसकी रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा कि लड़की ने आत्महत्या की है अथवा ये मामला ऑनर किलिंग का है. आरोपियों द्वारा धमकियां देने के मामले पर उन्होंने कहा कि परिजन जो भी तहरीर देंगे और मेडिकल रिपोर्ट एवं जांच में जो भी सबूत मिलेंगे, उनके आधार पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. उल्लेखनीय है कि मूसाझाग थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली एक लड़की के परिजन ने तहरीर देकर आरोप लगाया था कि गत 20 अगस्त को लंकुश नामक युवक अपने दो साथियों के साथ घर में घुसा था. 

तीनों ने पहले पीड़िता की मां को तमंचे के बल पर बंधक बनाया और पीड़िता को मुंह में कपड़ा ठूंस कर उठा ले गए. बाद में आरोपियों ने गांव के ही एक स्कूल में ले जाकर सामूहिक बलात्कार की वारदात को अंजाम दिया. इस मामले में तीनों युवकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था और आरोपी लंकुश को 21 अगस्त की शाम को गिरफ्तार कर लिया गया था. इस मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने 22 अगस्त को एक बयान जारी करते हुए कहा था कि मेडिकल रिपोर्ट में किशोरी के साथ दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है.