‘केसरी’ देखने जा रहे हैं तो पहले जान लीजिए कैसी है फिल्म

139
Kesari, Kesari Movie Review, Kesari Trailer, Kesari Akshay Kumar Movie, Kesari Latest news, Kesari Parineeti Chopra, Kesari Villain, केसरी मूवी रिव्यू,Parineeti Chopra, Akshay Kumar, Karan Johar, Anurag Singh, Kesari, Mir Sarwar, Jasbir Jassi, Tanishq Bagchi, Abhishek Choubey, British Government, British, North-West Province,Bollywood News In Hindi,बॉलीवुड समाचार

अंग्रेजी सरकार ने गोला-बारूद भेजने से कर दिया था इनकार, बावजूद इसके 10 हजार अफगानियों से जा भिड़े थे 21 जवान, वीरता और सच्ची देशभक्ति की झलक दिखाती है ‘केसरी’

‘केसरी’ देखने जा रहे हैं तो पहले जान लीजिए कैसी है फिल्म

रेटिंग3.5/5
स्टार कास्टअक्षय कुमार, परिणीति चोपड़ा और मीर सरवर
डायरेक्टरअनुराग सिंह
प्रोड्यूसरकरन जौहर, अरुणा भाटिया, हीरू जौहर, अपूर्वा मेहता और सुनील खेत्रपाल
म्यूजिकतनिष्क बागची, अर्को पार्थो मुखर्जी, चिंतन भट्ट, जसबीर जस्सी, जसलीन रॉयल और राजू सिंह
ड्यूरेशन2 घंटा 30 मिनट

‘केसरी’ 18वीं शताब्दी के उस एतिहासिक युद्ध को पर्दे पर दिखाने में सफल रही है, जिसमें 21 सिख जवानों ने 10 हजार से ज्यादा अफगानी सैनिकों से लोहा लेने का फैसला लिया था और अपने वतन की हिफाजित के लिए कई घंटे तक उनसे लड़ते रहे।

‘केसरी’ की कहानी: हवलदार ईशर सिंह (अक्षय कुमार) एक ऐसा सिपाही है, जो युद्ध से होने वाले रक्तपात और नुक्सान के बारे में बहुत अच्छे से जानता है। वे अंग्रेजी सरकार की सर्विस से खुश नहीं थे और उसका आदेश न मानने की बजाय अपने वतन के लिए लड़ने का फैसला लेते हैं। बहादुर और महान ईशर सिंह 20 जवानों की एक टुकड़ी का नेतृत्व करते हैं। अफगान सेना ने सारागढ़ी किले के माध्यम से देश के उत्तर पश्चिम प्रांत में प्रवेश करने की योजना बनाई और बाद में शेष सीमाओं पर कब्जा कर लिया। हालांकि, सारागढ़ी पर मौजूद जवानों की बहादुरी के चलते अफगानियों का यह मिशन आसान नहीं रहा। जहां अफगानियों को लग रहा था कि वे एक घंटे के अंदर सारागढ़ी के किले में प्रवेश कर जाएंगे, वहीं, उन्हें इसमें कई घंटे लग गए थे।
– जब अफगान आर्मी हमला करती है तो सीमित गोला-बारूद होने के बावजूद 21 सैनिक उन्हें धूल चटाने की कोशिश का कोई मौक़ा नहीं छोड़ते हैं। ब्रिटिश सरकार और गोला-बारूद भेजने में असमर्थता जता देती है। ऐसे में ईशर सिंह और बाकी 20 जवानों के पास आखिरी गोली तक लड़ने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचता है। सभी 21 जवान सामूहिक रूप से सामने खड़ी मुसीबत का सामना करने का फैसला लेते हैं और उन्हें रोकने की कोशिश करते हैं, ताकि वे दो अन्य किले गुलस्तान और लॉकहार्ट पर हमला न कर सकें।

‘केसरी’ का रिव्यू: डायरेक्टर अनुराग सिंह ने 1897 के दौर उत्तर-पश्चिम प्रांत को रीक्रिएट करने के लिए बहुत काम किया है, जहां सरागढ़ी मौजूद था। उन्होंने कहीं कोई कॉम्प्रोमाइज नहीं किया। बल्कि इसके बारे में काफी रिसर्च की और डिटेल जुटाई। CGI, अपने सिनेमैटोग्राफर अभिषेक चौबे और प्रोडक्शन डिजाइनर सुब्रता चक्रवर्ती और अमित रे की मदद वे कठिन पहाड़ी इलाके को बहुत ही खूबसूरती से पेश करते हैं। बड़ी-बड़ी पगड़ियों से कैनवास शूज तक यूनिफ़ॉर्म से जुड़ी हर चीज का डिजाइनर शीतल शर्मा ने ध्यान रखा है। फिल्म का फर्स्ट हाफ कुछ सुस्त है। लेकिन सेकंड हाफ में जबर्दस्त एक्शन देखने को मिलता है।
– ईशर सिंह के किरदार में अक्षय कुमार ने जबर्दस्त काम किया है। परिणीति चोपड़ा, जो कि फिल्म में अक्षय के लव इंटरेस्ट के रूप में दिख रही हैं, फ्लैशबैक में आती जाती रही हैं। लेकिन वे खूबसूरत दिखी हैं। डायरेक्टर को सेंट्रल कैरेक्टर ईशर सिंह के अलावा दूसरे सैनिकों पर भी थोड़ा और फोकस करना चाहिए था। इससे फिल्म में और जान आ जाती।
– फिल्म का म्यूजिक कई म्यूजिशियन ने दिया है, जो शानदार है। यह फिल्म की कहानी और पीरियड थीम के साथ न्याय करता है।

क्यों देखें: यह फिल्म जरूर देखें, क्योंकि यह हमारे महान इतिहास को दिखाती है, जिसपर हमें गर्व होना चाहिए। यह एक ऐसी कहानी है, जो सच्ची बहादुरी और देशभक्ति को उजागर करती है। इसके अलावा, एक नए किरदार में अक्षय कुमार के शानदार परफ़ॉर्मेंस के लिए भी फिल्म देखनी चाहिए।

यह भी पढ़ें :-  प्रेमी को बुलाया और बनाने लगी संबंध, तभी नींद से उठे 4 बच्चे…प्रेमी ने सबको दे दी मौत


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें