इस गांव में नहीं रहता एक भी पुरुष, फिर भी गर्भवती हो जाती हैं महिलाएं

92
KZHK, wOMANS get pregnant here automatically, village where womans, The village where men are banned and Womens Got Pregnant Automatically,Africa, Nairobi

नेरोबी. अफ्रीका में एक गांव के लिए कहा जाता है कि यहां पुरुषों के रहने पर पूरी तरह प्रतिबंध है। 29 सालों से यहां पुरुषों पर बैन है। इसके बावजूद यहां कि महिलाएं गर्भवती हो जाती है। लंबे समय से अफ्रीका के यूमोजा गांव को लेकर तरह-तरह की कहानियां वायरल हुई हैं। आज हम आपको बता रहे है इस गांव की सच्ची कहानी, कि क्यों यहां पुरुषों पर बैन है और कैसे अपने आप गर्भवती हो जाती हैं यहां कि महिलाएं। 1990 में लगा था बैन…

– अफ्रीका के घने जंगलों के बीच में स्थित इस गांव के आसपास पुरुषों के भटकने पर भी प्रतिबंध है, जो पूरी तरह सच है। दरअसल, 1990 में इस गांव को 15 ऐसी महिलाओं के रहने के लिए बनाया गया था जिनके साथ ब्रिटिश जवानों ने रेप किया था।
– इसके बाद से ही इस गांव में रेप, बाल विवाह, घरेलू हिंसा और खतना जैसी तमाम हिंसाओं की पीड़ित महिलाएं रहने चली आती है। यही वजह से कि इस गांव पर पुरुषों का आना बैन कर दिया गया ।अफ्रीका में सिंगल-सेक्स कम्युनिटी वाला ये अकेला गांव है।

गर्भवती होती महिलाओं का सच
– अब सबसे बड़ा सवाल लोगों के मन में ये आता रहा है कि जब यहां पुरुषों की आबाद ही नहीं है। तो महिलाएं अपने आप गर्भवती कैसे हो जाती हैं। तो इसके पीछे दो तर्क दिए जाते हैं। पहला ये कि यहां रहने आई पीड़ित महिलाएं अक्सर पहले से ही प्रेग्नेंट थीं, जिनके बारे में सुनकर लोगों ने इनके अपने आप प्रेग्नेंट होने की अफवाह उड़ा दी।
– वहीं दूसरा तर्क ये है कि यहां की महिलाओं को दूसरे गांव और शहर में जाने की पाबंदी नहीं है। संभव है दूसरी जगहों पर जाकर रहने और पसंदीदा मर्द के साथ रहकर ये महिलाएं प्रेग्नेंट हो जाती हैं। हालांकि, ये किस हद तक सच है ये साफ नहीं है। आसपास के गांव के लोग इन महिलाओं के चोरी छिपे दूसरे गांवों में जाने की बात करते रहते हैं।

इतनी हो चुकी है यहां की जनसंख्या
– 15 महिलाओं के लिए बना ये गांव अब बढ़ चुका है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो अब यहां दूर दराज की 250 महिलाएं रहती हैं, जिनमें से दर्जनों महिलाओं ने बच्चों को जन्म दिया है।

देखने आ सकते हैं टूरिस्ट
इस गांव में महिलाओं ने प्राइमरी स्कूल, कल्चरल सेंटर और नेशनल पार्क भी बना दिया। इसे देखने आने वाले टूरिस्ट्स के लिए कैंपेन साइट भी चलाया है । जिसके बाद कई देशों से लोग इस गांव को देखने के लिए आते है जिसकी इन महिलाओं ने फीस भी रखी है। इसी पैसे से इस गांव का विकास हो रहा है। हालांकि, यहां टूरिस्ट्स का रात रूकना मना है।