शरद पवार को डॉक्टर्स ने क्यों कहा था, सिर्फ 6 महीने और जिंदा रहेंगे, जरूरी काम निपटा लें

0
23
aajtaklives news, news in hindi, hindi news, Sharad Pawar NCP chief says I will not contest Lok Sabha elections,Sharad Pawar, New Delhi, Madha Lok Sabha, Baramati, Apollo Hospital, New York, India - देश न्यूज़,देश समाचार

शरद पवार नहीं लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, जानिए साल 2004 में डॉक्टर्स ने उन्हें क्यों कहा था कि आप सिर्फ 6 महीने और जिंदा रहेंगे

Sharad Pawar : पवार की बेटी सुप्रिया और भतीजे अजीत के बेटे पार्थ लड़ेंगे चुनाव

नेशनल डेस्क, नई दिल्ली. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार के लोकसभा चुनाव लड़ने की अटकलों पर सोमवार को विराम लग गया। उन्होंने साफ कर दिया कि वह आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि उनके परिवार के दो सदस्य लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं, यही ठीक समय है कि जब वे चुनाव न लड़ने का फैसला करें। बारामती में पार्टी के विधायकों और सांसदों से चर्चा के बाद शरद पवार ने कहा, ‘मैं इससे पहले 14 लोकसभा चुनाव लड़ चुका हूं। हमारे परिवार ने निर्णय लिया है कि मैं माढा लोकसभा से चुनाव नहीं लड़ूंगा। पार्टी के ज्यादातर सदस्य चाहते हैं कि पार्थ मवाल सीट से चुनाव लड़ें। मैं भी चाहता हूं कि नई पीढ़ी को राजनीति में आना चाहिए। पार्थ मावल लोकसभा सीट से लड़ेंगे।’ पार्थ शरद पवार के भतीजे अजीत के बेटे हैं। जब शरद पवार से कहा गया था कि वो सिर्फ 6 महीने ही जिंदा रहेंगे…

यह भी पढ़ें :- कमरे से बरामद मोबाइल में चल रहा था एक वीडियो, जिसे…

जब डॉक्टर्स ने कहा, आप 6 महीने और जी सकेंगे : शरद पवार ने कैंसर को हराकर जिंदगी जीती है, यह तो सब जानते हैं। लेकिन कैंसर से उनकी लड़ाई कितनी दर्दनाक और चैलेंजिंग थी, यह बात शायद कम लोग ही जानते हैं। एक वक्त तो डॉक्टर भी हार मान चुके थे। सिर्फ छह महीने की जिंदगी बताते हुए डॉक्टरों ने पवार को जरूरी काम निपटाने की नसीहत तक दे दी थी, लेकिन उनकी जीने की जिद के आगे कैंसर को हार माननी ही पड़ी।

ऐसे लड़ी कैंसर से जंग: एक प्रोग्राम में पवार ने बताया था कि 2004 के लोकसभा चुनाव के दौरान उन्हें कैंसर का पता चला था। इलाज के लिए न्यूयॉर्क गए। वहां के डॉक्टरों ने भारत के ही कुछ एक्सपर्ट्स के पास जाने को कहा। एग्रीकल्चर मिनिस्टर रहने के दौरान 36 बार रेडिएशन का ट्रीटमेंट लेना था। यह बहुत दर्दनाक था। सुबह 9 से 2 बजे तक शरद मिनिस्ट्री में काम करते। फिर 2.30 बजे अपोलो हॉस्पिटल में कीमोथेरेपी लेते। दर्द इतना होता था कि घर जाकर सोना ही पड़ता। इसी दौरान एक डॉक्टर ने उनसे कहा कि जरूरी काम पूरे कर लें। आप सिर्फ 6 महीने और जी सकेंगे। पवार ने डाॅक्टर से कहा कि मैं बीमारी की चिंता नहीं करता, आप भी मत करो। पवार ने लोगों को नसीहत दी कि कैंसर से बचना है तो तंबाकू का सेवन तुरंत बंद कर दें।

यह भी पढ़ें :- युवक की जान बचाने डॉक्टरों को उसका प्राइवेट पार्ट आधा काटना…

यह भी पढ़ें :- एयर स्ट्राइक से 13 दिन बाद सेना का एक और बड़ा…

यह भी पढ़ें :- लड़के ने सुनाई आपबीती- शादी के बाद सास ने 9 महीने तक कैसे किया टॉर्चर ?


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें