लिपटकर रोने लगीं गांव की महिलाएं तो स्मृति ईरानी ने बंधाया ढांढस

0
29
up news, amethi, smriti irani, helped by running a handpump to extinguish fire in amethi - देश न्यूज़,देश समाचार

अमेठी / प्रचार छोड़कर फसल में लगी आग बुझाने पहुंचीं स्मृति, हैंडपंप चलाकर ग्रामीणों की मदद भी की

लिपटकर रोने लगीं गांव की महिलाएं तो स्मृति ईरानी ने बंधाया ढांढस

अमेठी. यहां मुंशीगंज के पश्चिम दुआरा गांव स्थित खेतों में रविवार को अचानक आग लग गई। इसमें सैकड़ों बीघा गेहूं की फसल जलकर खाक हो गई। इसकी खबर जैसे ही केंद्रीय मंत्री और भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी को पता चली तो वह तुरंत गांव पहुंच गईं। उन्होंने आग बुझाने में लोगों की मदद भी की।

यह भी पढ़ें :- फिदायीन हमलावर अमीर कारोबारी था, पुलिस घर पहुंची तो छोटे भाई ने भी खुद को उड़ा लिया

सूचना देने के बाद भी जब एसडीएम मौके पर नहीं पहुंचे तो उन्होंने डीएम को फोन मिलाया। पता चला कि एसडीएम वीआईपी ड्यूटी में हैं तो स्मृति नाराज हो गईं। उन्होंने कहा कि जनता की मदद से लोग वीआईपी बनते हैं। जनता की मदद पहले होनी चाहिए।

स्मृति के बाद पहुंची फायर ब्रिगेड
स्मृति को जैसे ही खेतों में आग लगने की सूचना मिली वह अपना प्रचार छोड़कर वहां पहुंच गई। उनके पहुंचने के बाद फायर बिग्रेड की टीम आई। उन्होंने हैंडपंप चलाकर बाल्टियों में पानी भरा और रो रही महिलाओं को पानी भी पिलाया। उन्हें ऐसा करते देख पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ भाजपा कार्यकर्ता भी आग बुझाने में जुट गए। अपना सब कुछ तबाह होता देख गांव की महिलाएं स्मृति ईरानी से लिपटकर रोने लगीं। ईरानी ने भी सांत्वना देते हुए महिलाओं को धैर्य रखने की बात कही।

यह भी पढ़ें :- मोदी ने कहा- मैं गंदी से गंदी चीज को भी खाद बनाता हूं और इसमें कमल खिलाता हूं

यह भी पढ़ें :- शारीरक बदलाव जो लड़कियों में होता है जब वो सेक्स शुरू करती है

यह भी पढ़ें :- चाचा बोले- मेरा भतीजा फर्श पर लहू लहान पड़ा था, उसके दोनों हाथ कटे हुए थे

यह भी पढ़ें :- ड्रग्स देकर करती थी उनके साथ दुष्कर्म और उसके बाद….


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें