5 कारण, जिनकी वजह से गुड़ी पड़वा से ही शुरू होता है हिंदू नव वर्ष

36
gudi padwa, gudi padwa date, gudi padwa images, happy gudi padwa, gudi padwa images in marathi,happy gudi padwa in marathi gudi, gudi padwa photo, gudi padwa status, gudi padwa message, gudi padwa information, gudi padwa history, why gudi padwa celebrated, what is gudi padwa,,Gudi Padwa, Hindu New Year, Brahma Purana, Shukla Pratipada, India, Ujjain, Vikram Samvat, Arya Samaj, Maharishi Dayanand

Gudi Padwa 2019: 6 अप्रैल से शुरू होगा हिंदू नव वर्ष, ग्रंथों के अनुसार ब्रह्मदेव ने इसी तिथि से शुरू किया था सृष्टि का निर्माण

5 कारण, जिनकी वजह से गुड़ी पड़वा से ही शुरू होता है हिंदू नव वर्ष

रिलिजन डेस्क हिंदू नव वर्ष का प्रारंभ चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से होता है। इस बार 6 अप्रैल, शनिवार से इसकी शुरूआत हो रही है। हिंदू नव वर्ष को गुड़ी पड़वा, उगादि आदि नामों से भारत के अनेक क्षेत्रों में मनाया जाता है। जानिए गुड़ी पड़वा से ही क्यों शुरू होता है हिंदू नव वर्ष-

1. ब्रह्म पुराण हिंदू धर्म का प्राचीन ग्रंथ है। इसके अनुसार पितामह ब्रह्मा ने इसी दिन से सृष्टि निर्माण का कार्य प्रारम्भ किया था। इसीलिए इसे सृष्टि का प्रथम दिन माना जाता है।

2. धर्म ग्रंथों के अनुसार चारों युगों में सबसे प्रथम सत्ययुग का प्रारम्भ इसी तिथि से हुआ था। इस दिन से सृष्टि का कालचक्र प्रारंभ हुआ था। इसे सृष्टि का पहला दिन भी माना जाता है।

3. शास्त्रों के अनुसार, धर्मराज युधिष्ठिर भी इसी दिन राजा बने थे और उन्होंने ही युगाब्द (युधिष्ठिर संवत) का आरंभ इसी तिथि से किया था।

4. मां दुर्गा की उपासना का पर्व चैत्र नवरात्र भी इसी तिथि से प्रारंभ होती है। ऐसी मान्यता है कि साल के पहले नौ दिनों में माता की आराधना से प्राप्त शक्ति से साल भर जीवन शक्ति का क्षय नहीं होता।

5. उज्जयिनी (वर्तमान उज्जैन) के सम्राट विक्रमादित्य ने भी विक्रम संवत् का प्रारम्भ इसी तिथि से किया था। महर्षि दयानंद द्वारा आर्य समाज की स्थापना भी इसी दिन की गई थी।

यह भी पढ़ें :- बेटी को पीटते हुए वीडियो बनाता था प्रोफेसर पिता और इसे…


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें