रामायण और भगवान राम की 10 बातें जो आपको जीवनभर काम आएंगी

56
aajtaklives news, news in hindi, hindi news, Ramayan, रामायण, Ramayan motivational quotes, motivational quotes, lord Rama inspirational quotes, Ramayan stories, motivational quotes of Lord Rama, Ramayana story, Lord Ram, Lord Rama, bhagwan ram, Ramayan Chaupai, Valmiki, Tulsidas, Ram Katha, Ayodhya, Ram charit manas, भगवान राम, राम कथा, रामायण के प्रसंग, रामायण चौपाई, श्रीराम, जय श्रीराम, राम, राम कथा, अयोध्या, राम जन्म, धर्म

रामायण (Ramayan): दुःख से बढ़कर इंसान का कोई और दुश्मन नहीं है, मन में उत्साह हो तो कोई कमजोर इंसान भी किसी दुर्लभ काम को आसानी से कर सकता है, रामायण सिखाती है जीने के ऐसे कई तरीके

Ramayan motivational quotes lord Rama inspirational quotes

रिलिजन डेस्क. महर्षि वाल्मीकि की लिखी रामायण (Ramayan) को संस्कृत साहित्य का पहला महाकाव्य माना गया है। रामायण सिर्फ भगवान राम (Lord Rama) के जीवन की कहानी मात्र नहीं है, बल्कि ये जीवन के नजरिए को बदल देने वाले ज्ञान का अथाह भंडार भी है। रामायण को जीवन प्रबंधन की मुख्य किताबों में से एक माना जाता है। अयोध्या (Ayodhya) में जन्मे भगवान राम के जीवन की घटनाओं से जीवन में कई सीख ले सकते हैं। वाल्मीकि (Valmiki) और तुलसीदास (Tulsi dal) दोनों ने ही उनके जीवन की घटनाओं को प्रेरणादायक (Motivational) तरीके से दिखाया है।

यह भी पढ़ें : माता-पिता और गुरु का लेना चाहिए आशीर्वाद, पुत्रदा एकादशी पर कर…

रामायण (Ramayan) से सीखी जा सकने वाली 10 खास बातें इस प्रकार हैं….

1 . दुःख से बढ़कर इंसान का कोई और दुश्मन नहीं है। दुःख अच्छे से अच्छे बुद्धिमान और शक्तिशाली इंसान को भी कमजोर बना देता है। अतः दुःख को अपने मन और बुद्धि पर हावी ना होने दें।

2 . उत्साह में अपार शक्ति होती है। उत्साहित मन वाला व्यक्ति की भी बड़ी से बड़ी विपत्ति को आसानी से हरा सकता है।

3 . उत्साहहीन, दुःख में डूबा और निर्बल इंसान कभी कोई महान काम नहीं कर सकता।

4 . दुःख आने पर अपने जीवन का अंत कर देने में कोई भलाई नहीं है। सुख और आनंद का मार्ग जीवन से ही निकलता है, मृत्यु से नहीं।

5 . इंसान का चेहरा ही उसके मन के भावों का दर्पण होता है। कोई भी अपने चेहरे से अपने मन के भाव को छुपा नहीं सकता है।

6 . क्रोध हमारा ऐसा शत्रु है जो दिखता मित्र की तरह है। ये वो तेज धार वाली तलवार है जो हमारा सबकुछ नष्ट कर सकता है।

7 . जब इंसान का विनाश नजदीक आता है तो उसे हर किसी की अच्छी सलाह भी बुरी ही लगती है।

8 . मूर्ख के साथ विनम्रता, कपटी इंसान के साथ प्रेम, कंजूस के साथ नीति और क्रोधी आदमी के साथ शांति की बातें करने का कोई अर्थ नहीं है। ये सब व्यर्थ है।

9 . पराधीन यानी दूसरों के अधीन काम करने वाले को सपने में भी सुख प्राप्त नहीं होता। इंसान को स्वाधीनता यानी खुद के बल पर ही पुरुषार्थ करना चाहिए।

10 . दूसरों को दुःख देने से बड़ा कोई पाप ग्रंथों में नहीं लिखा गया है। अतः किसी के प्रति भी कोई ऐसा काम ना करें जिससे वह दुःखी हो।

यह भी पढ़ें : विवाहित होकर भी भगवान शिव क्यों रहते हैं श्मशान में

यह भी पढ़ें : जानें महाकाल की भस्‍म आरती का रहस्‍य, क्‍यों महिलाओं को यहां…

यह भी पढ़ें : भगवान शिव का ऐसा रहस्यमयी मंदिर, जहां हर साल बढ़ रहा…


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें