जानें, नवरात्रि पूजन समापन और दुर्गा विसर्जन का शुभ मुहूर्त और तिथि

26
dussehea, dussehra 2018, durga, durga visarhjan, shubh muhurat, shubh muhurat for durga visarjan

नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों को पूजने के बाद देवी की प्रतिमा का विसर्जन किया जाता है. इसी के साथ नवरात्रि की समाप्ति भी होती है. दुर्गा विसर्जन के बाद ही दशहरा का पर्व मनाया जाता है. इस बार दशहरा 19 अक्टूबर 2018 को मनाया जाएगा.

नवरात्रि की पूजा समापन का शुभ मुहूर्त-
शारदीय नवरात्र-2018 की आज नवमी है यानी आज आदिशक्ति की नौ दिवसीय साधना संकल्प को पूर्ण करने की तिथि है. यह तिथि आज दोपहर 3 बजकर 28 मिनट तक रहेगी. इस समय तक विधि विधान से पूजा का समापन करने के बाद दुर्गा मां की प्रतिमा का विसर्जन करना चाहिए.

दुर्गा विसर्जन के लिए शुभ मुहूर्त क्या है?
इस बार विसर्जन के लिए नवमी और दशहरा की तिथि शुभ मानी जा रही है. दशमी तिथि 19 अक्टूबर शुक्रवार को शाम 5 बजकर 57 मिनट तक रहेगी. दुर्गा विसर्जन के लिए विशेष शुभ मुहूर्त शुक्रवार सुबह सूर्योदय काल यानी सुबह 6 बजकर 28 मिनट से 8 बजकर 45 मिनट तक होगा.

विसर्जन करते समय इन बातों का रखें ध्यान-

विसर्जन नदी या सरोवर में करना अत्यंत शुभ माना जाता है. मां की प्रतिमा, घट या जवारे को पूरी आस्था और पंचोपचार के साथ विसर्जित करें. समस्त पूजा सामग्री भी पवित्र जलराशि में ही प्रवाहित करें.

विसर्जन के लिए मां को ले जाते समय उनका उतना ही ध्यान रखें जितना लाते समय रखा जाता है. ध्यान रखें कि मां के दिव्य विग्रह को विसर्जन पूर्व कोई नुकसान न पहुंचें. विसर्जन से पहले मां की भक्तिभाव से आरती उतारें. आरती की दिव्य ज्योति प्रकाश को मां के आशीर्वाद और पावन प्रसाद के रूप में आत्मसात करें. विसर्जन के बाद एक नारियल, दक्षिणा और चौकी के कपड़ें को किसी ब्राह्मण को दान करना शुभ माना जाता है.