भारत-पाकिस्तान 27 फरवरी को एक दूसरे पर मिसाइल दागने के थे बेहद करीब

61
India, Pakistan, missile attack, Pakistan attack, Abhinandan Varthman, Wing Commander of Indian Air Force, Wing Commander Abhinandan, Pulwama attack, Balakot air strike, Balakot,भारत, पाकिस्तान, मिसाइल हमला, पाकिस्तान हमला, अभिनंदन वर्धमान, भारतीय वायुसेना के पालयट, विंग कमांडर अभिनंदन, पुलवामा हमला, बालाकोट हवाई हमला, बालाकोट,Hindi News, News in Hindi, Hindustan

भारत-पाकिस्तान 27 फरवरी को एक दूसरे पर मिसाइल दागने के थे बेहद करीब

भारत और पाकिस्तान 27 फरवरी को एक दूसरे के ऊपर मिसाइल दागने के बेहद करीब आ गए थे। वायुसेना के विमान मिग-21 बाइसन के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान की तरफ से पकड़ने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस पर फैसला कर रहे थे।

भारत की खुफिया एजेंसी रॉ के सेक्रेटरी अनिल धस्माना ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल आसिम मुनीर को यह साफ तौर पर बता दिया कि अगर भारतीय पायलट को किसी तरह का नुकसान पहुंचाया जाता है तो भारत की तरफ से इसके गंभीर नतीजे होंगे।

हिन्दुस्तान टाइम्स ने सुरक्षा मामलों की समिति (सीसीएस) के एक महत्वपूर्ण सदस्य, भारत और पाकिस्तान के राजनयिक, अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) कार्यालय और खुफिया अधिकारियों से दोनों पड़ोसियों के बीच इस खटास भरे रिश्ते के बारे में बात की।

यह भी पढ़ें :- बोली- पति को मारने का कोई अफसोस नहीं, बस अब मुझे…

नई दिल्ली और वाशिंगटन में इन मामलों से सीधे तौर पर वाकिफ सूत्रों ने बताया कि धस्माना ने पायलट को छोड़ने के लिए मुनीर से बात की। विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को उस वक्त पाकिस्तान ने पकड़ लिया जब 27 फरवरी की सुबह पाकिस्तान के एफ-16 का पीछा करते वक्त नियंत्रण रेखा के उस पास मिग-21 बाइसन दुर्घटनाग्रस्त होने के चलते नीचे आ गए थे।

सूत्रों ने बताया कि दोनों ने भारतीय सेना की तरफ से राजस्थान में तैनात किए गए 12 कम दूरी की सतह से सतह में मार करने वाली मिसाइलों के बारे में भी बात की थी।

एक तरफ जहां रॉ चीफ ने आईएसआई के अपने समकक्षीय से बात की तो वहीं राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकर अजीत डोभाल ने अमेरिकी के अपने समकक्षीय जॉन बोल्टन और अमेरिकी विदेश मंत्री से उसी दिन हॉट लाईन पर बात कर बताया कि अगर विंग कमांडर वर्धमान को नुकसान पहुंचाया जाता है तो भारत खतरनाक कदम उठाने के लिए तैयार है।डोभाल और धस्माना ने संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब में वार्ताकारों से बात कर कहा कि वह इमरान खान की सरकार पर इस बात को लेकर दबाव बनाए कि वह पायलट को बिना किसी शर्त के रिहा करे।

यह भी पढ़ें :- वायुसेना ने बताई हथियारों की तुरंत जरूरत के पीछे की बड़ी…

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता से जब पूछा गया कि क्या डोभाल ने 27 फरवरी को जॉन बोल्टन को इस बारे में बता दिया था कि अगर भारतीय वायुसेना के पायलट को पाकिस्तान में किसी तरह का नुकसान पहुंचाया जाता है तो भारत मिसाइल हमले के लिए तैयार था और ऐसी स्थिति में 12 मिसाइल को दागने के लिए तैयार रखा गया था, इसके जवाब में किसी तरह की टिप्पणी से व्हाइट हाउस के प्रवक्ता ने इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें :- फर्श पर तड़प रहे पति को मौत की नींद सुलाने पीछे…


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें