पर्रिकर को अंतिम विदाई देते वक्त रो पड़ीं स्मृति ईरानी, पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

17
PM Narendra Modi reaches Kala Academy, pays tribute to Manohar Parrikar,Narendra Modi, Goa, Panaji, Kala Academy, Tamilnadu CM, Indian, Mapusa, Madhya Pradesh, Shrikrishna Singh, YS Rajasekhara Reddy, Mufti Mohammed Sayeed, Jammu and Kashmir, Maharashtra, Gopinath Bordoloi, Assam, Ravi Shankar Shukla, Marutrao Kannamwar, Bihar, Bidhan Chandra Rai, West Bengal, Tamil Nadu, Gujarat, Arunachal Pradesh, Barkatullah Khan, Rajasthan, Beant Singh, Dorjee Khandu, CN Annadurai, MG Ramachandran, Chimanbhai Patel, Punjab, Sheikh Abdullah - देश न्यूज़,देश समाचार

अंतिम यात्रा पर पर्रिकर : वो किस्सा जब पर्रिकर ने दो दिनों तक पहनी लाल कमीज, लोगों ने पूछा क्यों, तो दिया ऐसा जवाब कि सबकों कर दिया इमोशनल

पर्रिकर को अंतिम विदाई देते वक्त रो पड़ीं स्मृति ईरानी, पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

नेशनल डेस्क। पणजी. गोवा के मुख्यमंत्री रहे मनोहर पर्रिकर (63) का निधन हो गया। रविवार शाम 6.40 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। अंतिम दर्शन के लिए उनकी पार्थिव देह घर से भाजपा कार्यालय से लाई गई थी। इसके बाद इसे कला अकादमी में भी कुछ देर रखा गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोवा पहुंचकर पर्रिकर को श्रद्धांजलि दी। अंतिम विदाई देने पहुंची केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भावुक हो गईं। वो इस दुख की घड़ी में खुद को रोने से नहीं रोक पाई। दिवंगत सीएम मनोहर पर्रिकर को अंतिम विदाई देने के लिए देश के कई और दिग्गज नेता भी पहुंचे। पीएम मोदी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और राज्यपाल मृदुला सिन्हा दिवंगत ने सीएम पर्रिकर को श्रद्धांजलि दी और उनके परिजनों से मुलाकात की।पर्रिकर का एक साल से पैंक्रियाटिक कैंसर का इलाज चल रहा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पर्रिकर आधुनिक गोवा के निर्माता थे, उनके फैसलों ने भारतीय रक्षा क्षमताओं को बढ़ाया। उनके फैसलों ने भारतीय रक्षा क्षमताओं को बढ़ाया।

क्यों पहनी दो दिन तक एक ही कमीज : मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मनोहर पर्रिकर ने दो दिनों तक एक ही लाल कमीज पहने रखी। जब लोगों ने उनसे पूछा कि आखिर आप दो दिनों से एक ही कपड़ा क्यों पहने हैं, तब उन्होंने कहा कि ये कमीज मेरी पत्नी ने मुझे गिफ्ट किया है। बता दें कि मनोहर पर्रिकर ने 1981 में मेधा पर्रिकर से शादी की। इसके बाद उनके दो बेटे उत्पल और अभिजात हुए। मनोहर की पत्नी मेधा की मौत भी 2001 में कैंसर की बीमारी की वजह से हुई।

मुख्यमंत्री बनने वाले पहले आईआईटीयन थे पर्रिकर
13 दिसंबर 1955 को गोवा के मापुसा में जन्मे पर्रिकर पहले ऐसे मुख्यमंत्री थे जो आईआईटी से पासआउट थे। वह चार बार 2000-2002, 2002-05, 2012-2014 और 14 मार्च 2017-17 मार्च 2019 तक चार बार मुख्यमंत्री रहे। 2014 में जब केंद्र में भाजपा की सरकार बनी थी, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वह गोवा की राजनीति छोड़कर केंद्र की राजनीति में आएं। इसके बाद पर्रिकर को रक्षामंत्री बनाया गया था।

पत्नी का भी कैंसर से निधन हुआ था
पर्रिकर की पत्नी मेधा का 2001 में कैंसर से निधन हो गया था। उनके दो बेटे उत्पल और अभिजात हैं। उत्पल ने अमेरिका की मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। अभिजात कारोबारी हैं।

पद पर रहते हुए दिवंगत होने वाले देश के 18वें मुख्यमंत्री
पर्रिकर देश के 18वें ऐसे मुख्यमंत्री रहे जिनका पद पर रहते हुए निधन हुआ। उनसे पहले तमिलनाडु की सीएम जयललिता, जम्मू-कश्मीर के शेख अब्दुल्ला और मुफ्ती मोहम्मद सईद, आंध्रप्रदेश के वाईएस राजशेखर रेड्डी का निधन भी पद पर रहते हुए ही हुआ था। इनके अलावा गोपीनाथ बोरदोलोई (असम), रविशंकर शुक्ल (मध्यप्रदेश), श्रीकृष्ण सिंह (बिहार), बिधानचंद्र राय (प.बंगाल), मरुतराव कन्नमवार (महाराष्ट्र), बलवंत राय मेहता (गुजरात), सीएन अन्नादुरई (तमिलनाडु), दयानंद बंडोडकर (गोवा), बरकतुल्ला खान (राजस्थान), एमजी रामचंद्रन (तमिलनाडु), चिमनभाई पटेल (गुजरात), बेअंत सिंह (पंजाब) और दोरजी खांडू (अरुणाचल प्रदेश) का निधन भी पद पर रहते ही हुआ।


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें