सचिन तेंदुलकर ने किया खुलासा, 2003 विश्‍व कप फाइनल में क्‍यों हारी थी टीम इंडिया

50
sachin tendulkar told why india loose in final match 2003 world cup,sachin tendulkar, mumbai indians vs chennai super kings, mumbai indians, chennai super kings, mumbai vs chennai, mi vs csk, ipl 2019 final, 2003 world cup, rohit sharma, ipl, ipl 12, ipl 2019

सचिन तेंदुलकर ने किया खुलासा, 2003 विश्‍व कप फाइनल में क्‍यों हारी थी टीम इंडिया

Sachin Tendulkar in ipl 2019 Final: सचिन तेंदुलकर ने आईपीएल 2019 फाइनल में टॉस के बाद बातचीत करते हुए खुलासा किया कि 2003 विश्‍व कप फाइनल में भारतीय टीम आखिर क्‍यों मैच हारी थी।

हैदराबाद:  ‘क्रिकेट के भगवान’ माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने रविवार को मुंबई इंडियंस और चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के बीच आईपीएल 2019 फाइनल के दौरान एक रोचक खुलासा किया है। तेंदुलकर ने बताया कि आखिर क्‍यों 2003 विश्‍व कप के फाइनल में भारतीय टीम ऑस्‍ट्रेलिया के हाथों परास्‍त हुई थी। मास्‍टर-ब्‍लास्‍टर ने हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्‍ट्रीय स्‍टेडियम में खेले जा रहे फाइनल में मुंबई इंडियंस के टॉस जीतने के बाद प्रसारणकर्ता से बातचीत में खुलासा किया कि 2003 विश्‍व कप फाइनल में टीम इंडिया से क्‍या सबसे बड़ी गलती हुई थी कि वह ट्रॉफी अपने हाथ में लेने से चूक गई थी।

दरअसल, सचिन तेंदुलकर से पूछा गया था कि फाइनल में टीम कैसे जीत सकती है? इसके जवाब में महान बल्‍लेबाज ने कहा कि जो भी टीम जोश को काबू में रखकर मुकाबला खेलेगी, वही अहम मैच जीतने में कामयाब होगी। तेंदुलकर ने कहा, ‘दोनों ही टीमें जैसे खेलती आ रही हैं, उन्‍हें वैसा ही खेलना चाहिए। अगर कोई ज्‍यादा जोश या उतावलापन दिखाएगा तो उसके लिए मुसीबत हो सकती है। 2003 विश्‍व कप के फाइनल में हम (टीम इंडिया) ज्‍यादा जोश से खेलने उतरे थे और यही हमारी हार का प्रमुख कारण बना। इसलिए दोनों टीमों को इस बात का विशेष ख्‍याल रखना होगा कि वह जोश को काबू में रखकर मैच खेले और ट्रॉफी जीतने के लिए अपनी जी-जान लगाएं।’

यह भी पढ़ें :- लोग पीछे दौड़े तो ऑफिस से 50 मी. दूर बाइक खंभे से टकराई, फिर आरोपी ने माथे पर मारी गोली

तेंदुलकर का यह खुलासा इसलिए भी अहम रहा क्‍योंकि टीम इंडिया 1983 के बाद दूसरी बार विश्‍व कप (2003) के फाइनल में पहुंची थी। इसके पहले उसका सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन 1996 के सेमीफाइनल में पहुंचना था। 2003 में टीम इंडिया का दूसरी बार विश्‍व चैंपियन बनने का सपना ऑस्‍ट्रेलिया के हाथों टूटा था। 23 मार्च 2003 को जोहानसबर्ग में खेले गए फाइनल में ऑस्‍ट्रेलिया ने पहले बल्‍लेबाजी की थी और 50 ओवर में दो विकेट खोकर 359 रन बनाए थे। जवाब में भारतीय टीम 39.2 ओवर में 234 रन पर ढेर हो गई थी। सचिन तेंदुलकर इस मैच में कोई कमाल नहीं कर सके थे और सिर्फ 4 रन बनाकर ग्‍लेन मैक्‍ग्रा का शिकार होकर पवेलियन लौट गए थे।

बहरहाल, मुंबई इंडियंस और चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के बीच रविवार को चौथी बार आईपीएल विजेता बनने की जंग चल रही है। हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्‍ट्रीय स्‍टेडियम पर खेले जा रहे मैच में मुंबई के कप्‍तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी का फैसला किया है। मौजूदा आईपीएल में मुंबई का चेन्‍नई के खिलाफ रिकॉर्ड शानदार है। दोनों टीमों के बीच मौजूदा आईपीएल में अब तक तीन मैच खेले गए और रोहित शर्मा के नेतृत्‍व वाली मुंबई ने तीनों बार चेन्‍नई को मात दी।

यह भी पढ़ें :- पत्नी ने 4 बेटियों के साथ मिलकर कराया दरोगा पति का मर्डर, दिलवाना चाहती थी बेटी को अनुकंपा नौकरी


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें