INDvsAUS: पुजारा के मजबूत इरादों से इतिहास लिखने की दहलीज पर भारत

19
indvsaus, cricket latest update, cricket score, aajtak lives, aajtak lives news, sport news

सिडनी टेस्ट में इतिहास रचने के इरादे से उतरी टीम इंडिया ने मैच के पहले दिन अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। आज दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 4 विकेट गंवाकर 303 रन बना लिए हैं। पहले दिन के खेल में दिन के हीरो रहे चेतेश्वर पुजारा, जिन्होंने इस सीरीज में तीसरी और अपने करियर की 18वीं सेंचुरी अपने नाम की। आगे की स्लाइड्स में देखें पहले दिन के खेल का हाल…

टेस्ट क्रिकेट में अपने खराब फॉर्म से जूझ रहे केएल राहुल को विराट कोहली ने सिडनी में और एक मौका दिया। लेकिन राहुल यहां भी अपनी किस्मत नहीं बदल पाए। आज राहुल (9) ने 6 गेंदें खेंलीं, जिनमें 2 बाउंड्री उन्हें बल्ले का किनारा लगने से जरूर हासिल हुईं, लेकिन जोश हेजलवुड ने जल्दी ही उनकी पारी का अंत कर भारत को दूसरे ही ओवर में झटका दे दिया।

इस दौरे पर कप्तान विराट कोहली के पास कई विकल्प थे। मेलबर्न टेस्ट में ओपनिंग की जिम्मेदारी हनुमा विहारी ने संभाली थी। ऐसे में टीम मैनेजमेंट को मयंक के साथ उन्हीं के कंधों पर यह जिम्मेदारी रखनी थी और केएल राहुल के स्थान पर टीम इंडिया हार्दिक पंड्या या भुवनेश्वर कुमार में से किसी एक को शामिल कर लोअर मिडल ऑर्डर की ताकत बढ़ाने के साथ-साथ टीम इंडिया में बोलिंग का विकल्प बढ़ा सकते थे। लेकिन टीम मैनेजमेंट और विराट कोहली क्रिकेट पंडितों को अपने फैसलों से हमेशा ही हैरान करना बखूबी जानते हैं।

राहुल के पविलियन लौटेने के बाद टीम इंडिया के भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर आ गए। पुजारा और मयंक अग्रवाल ने धैर्य बनाए रखा और कंगारू गेंदबाजों को हावी नहीं होने दिया। देखते ही देखते अपने करियर का दूसरा टेस्ट खेल रहे मयंक अग्रवाल ने सीरीज की दूसरी हाफ सेंचुरी जड़ दी। दूसरे छोर पर पुजारा भी डटकर साथ देते रहे और दूसरे विकेट के लिए दोनों ने 116 रन जोड़ लिए। यहां मयंक अग्रवाल (77) जल्दबाजी में अपना विकेट थ्रो कर गए। वह नाथन लॉयन के एक ही ओवर में दो छक्के जड़ने के बावजूद तीसरा छक्का ट्राई कर रहे थे। लेकिन लॉन्ग ऑन पर मिशेल स्टार्क ने उनका आसान सा कैच लपककर पविलियन भेज दिया।

दो विकेट गिरने के बाद कंगारू बोलरों ने अपनी टीम को वापसी कराने की पुरजोर कोशिश की। यह कोशिश रंग भी लाई और विराट कोहली (23) और अजिंक्य रहाणे (18) जब सेट लगने लगे तभी हेजलवुड ने विराट कोहली को और मिशेल स्टार्क ने अजिंक्य रहाणे को आउट कर चलता कर दिया। यह टीम इंडिया को दिन का तीसरा और चौथा झटका लगा। हेजलवुड सबसे सफल बोलर रहे उन्होंने 2 विकेट लिए।

एक छोर पर पुजारा जमकर खड़े रहे और उन्होंने एक बार फिर साबित कर दिया कि जानकार उनमें राहुल द्रविड़ का अक्स क्यों देखते हैं। पुजारा ने अपने टेस्ट करियर का 18वां और इस सीरीज का तीसरा शतक जड़ दिया। इस पारी में पुजारा सेट होने में भले समय लगाया, लेकिन एक बार जब लय पकड़ी, तो फिर कंगारूओं की नाक में दम कर दिया। एक समय पुजारा 120 बॉल खेलकर सिर्फ 40 रन पर बैटिंग कर रहे थे। इसके बाद पुजारा ने अगले 60 रन करीब 100 के स्ट्राइक रेट से बनाए। शतक बनाने के बाद उन्होंने रनों की रफ्तार और बढ़ा दी और दिन का खेल खत्म होने तक वह 130 रन पर नाबाद लौटे।

4 झटके लगने के बाद हनुमा विहारी क्रीज पर थे। पिछले मैच में ओपन करने वाले विहारी इस बार नंबर 6 पर बल्लेबाजी करने उतरे। लेकिन बल्लेबाजी क्रम का उन पर कोई दबाव नहीं दिखा। उन्होंने आते ही अपनी लय पाई और पुजारा के साथ दिन का खेल खत्म होने तक तेजी से रन बटोरने में योगदान दिया। विहारी ने 58 गेंद खेलकर 5 चौकों की मदद से 39 रन जोड़ लिए है। इस तरह टीम इंडिया का स्कोर 4 विकेट के नुकसान पर 303 है। अब टीम को कल विहारी-पुजारा से बड़ी पारी की उम्मीद है।


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें