IND vs AUS 5th ODI: भुवनेश्‍वर और केदार जाधव का संघर्ष बेकार गया, ऑस्‍ट्रेलिया ने मैच और सीरीज जीती..

16
ind vs aus, ind vs aus 5th odi, live score, live cricket score, india vs australia, india vs australia live, ind vs aus score, india vs australia 5th odi live, ind vs aus odi, ind vs aus 5th odi live, india vs australia live score, ind vs aus live,लाइव स्कोर, भारत बनाम ऑस्‍ट्रेलिया, लाइव क्रिकेट स्‍कोर,India,Australia,Virat Kohli,Aaron James Finch,Cricket

एरॉन फिंच की ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने जबर्दस्‍त पलटवार करते हुए पांच मैचों की सीरीज में भारतीय टीम को 3-2 से हरा दिया है. ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने सीरीज में 0-2 से पिछड़ने के बाद जबर्दस्‍त प्रदर्शन करते हुए यह जीत हासिल की है.

IND vs AUS 5th ODI: भुवनेश्‍वर और केदार जाधव का संघर्ष बेकार गया, ऑस्‍ट्रेलिया ने मैच और सीरीज जीती..

नई दिल्‍ली:एरॉन फिंच की ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने जबर्दस्‍त पलटवार करते हुए पांच मैचों की सीरीज में भारतीय टीम को 3-2 से हरा दिया है. ऑस्‍ट्रेलियाई टीम ने सीरीज में 0-2 से पिछड़ने के बाद जबर्दस्‍त प्रदर्शन करते हुए यह जीत हासिल की है. ओपनर उस्‍मान ख्‍वाजा के शतक (100) के बाद अपने गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत ऑस्‍ट्रेलिया ने सीरीज के अंतिम मैच में भारत को 35 रन से शिकस्‍त दी. दिल्‍ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए ऑस्‍ट्रेलिया ने 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 272 रन बनाए. ख्‍वाजा के शतक के अलावा पीटर हैंड्सकोंब (52) ने भी अर्धशतकीय पारी खेली. जवाब में खेलते हुए भारतीय टीम लगातार विकेट गंवाती रही. मैच में एक समय भारत के छह विकेट 132 रन पर गिर चुके थे और हार बेहद नजदीक नजर आ रही थी. ऐसे क्षणों में केदार जाधव और भुवनेश्‍वर कुमार की जोड़ी ने सातवें विकेट के लिए 91 रन की साझेदारी करते हुए कुछ देर के लिए ऑस्‍ट्रेलिया की चिंता बढ़ा दी. हालांकि लगातार गेंदों इन दोनों के आउट होते ही भारत के संघर्ष ने दम तोड़ दिया. भारतीय टीम 237 रन बनाकर आउट हो गई 35 रन से मैच हार गई.

मैच और सीरीज भले ही ऑस्‍ट्रेलिया ने जीती लेकिन अपनी जुझारू बैटिंग से जाधव-भुवी कोटला के दर्शकों का दिल जीतने में कामयाब रहे.भुवनेश्‍वर ने 46 और जाधव ने 44 रन की पारी खेली. रोहित शर्मा ने टीम के लिए सर्वाधिक 56 रन बनाए.भारतीय टीम की अपने देश में अक्‍टूबर 2015 के बाद यह पहली सीरीज हार है. तब उसे दक्षिण अफ्रीका ने 3-2 से हराया था. ऑस्‍ट्रेलिया के उस्‍मान ख्‍वाजा को मैच और सीरीज का सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ी घोषित किया गया. सीरीज में उन्‍होंने दो शतक लगाए. दिल्‍ली में 100 रन की बेहतरीन पारी खेलने वाले ख्‍वाजा ने सीरीज में कुल 383 रन बनाए, इसमें दो शतक और दो अर्धशतक शामिल रहे. विराट कोहली ने भी सीरीज में दो शतक बनाए. रनों के मामले में 310 रन के साथ वे ख्‍वाजा के बाद दूसरे स्‍थान पर रहे.

भारतीय पारी: भुवनेश्‍वर और जाधव ने दिखाई जबर्दस्‍त संघर्षक्षमता

ऑस्‍ट्रेलिया के 272 रन के जवाब में भारत की शुरुआत अच्‍छी नहीं रही. चौथे वनडे में तेज शतक बनाकर फॉर्म में वापसी करने वाले धवन (12 रन, 15 गेंद, दो चौके) पारी के पांचवें ओवर में पैट कमिंस की गेंद पर विकेटकीपर एलेक्‍स कैरी को कैच थमा बैठे. नए बल्‍लेबाज विराट कोहली और रोहित शर्मा ने कमिंस के इस ओवर में एक-एक चौका जमाया. 5 ओवर के बाद स्‍कोर एक विकेट खोकर 24 रन था.धवन के जल्‍दी आउट होने के बाद स्‍कोर बढ़ाने की जिम्‍मेदारी रोहित शर्मा ने ली. 10 ओवर के बाद भारत का स्‍कोर एक विकेट खोकर 43 रन था. भारतीय टीम के 50 रन 10.2 ओवर में पूरे हुए.पारी का यह 11वां ओवर भारत के लिए अच्‍छा रहा, इसमें 14 रन बने. इसमें ओवरथ्रो के जरिये बने 5 रन और वाइड (बाय) के रूप में भी बने 5 रन शामिल थे.ऐसे समय जब रोहित और विराट की जोड़ी भारतीय स्‍कोर को तेजी से बढ़ा रही थी, 13वें ओवर में मार्कस स्‍टोइनिस ने कमाल की गेंद फेंकते हुए विराट कोहली (20 रन, 22 गेंद, दो चौके) को विकेटकीपर कैरी को कैच थमाने के लिए मजबूर कर दिया. विराट की जगह ऋषभ पंत ने ली.कोहली की जगह आए पंत शुरू से ही आक्रामक अंदाज में बैटिंग कर रहे थे. 15वें ओवर में उन्‍होंने स्‍टोइनिस को चौका लगाया. 15 ओवर के बाद स्‍कोर दो विकेट खोकर 78 रन था. पारी के 17वें ओवर में बॉलिंग के लिए आए लेग ब्रेक बॉलर एडम जंपा का स्‍वागत उन्‍होंने पहली गेंद पर छक्‍का लगाकर किया.पंत को जरूरत से ज्‍यादा आक्रामक होने का खामियाजा भुगतना पड़ा. उन्‍होंने अपने होमग्राउंड पर बड़ी पारी खेलकर वर्ल्‍डकप के लिए सिलेक्‍टर्स को प्रभावित करने का मौका गंवा दिया. पंत (16 रन, 16 गेंद, एक चौका और एक छक्‍का) को ऑफ स्पिनर लियोन की गेंद पर टर्नर ने स्लिप में कैच किया.रोहित शर्मा ने जल्‍द ही अपना अर्धशतक पूरा किया, इस दौरान उन्‍होंने 73 गेंदों का सामना करते हुए चार चौके लगाए.पंत की तरह विजय शंकर ने भी अपना विकेट गैरजिम्‍मेदाराना शॉट खेलकर गंवाया. 25वें ओवर में जंपा की तीसरी गेंद पर उन्‍होंने छक्‍का लगाया, अगली गेंद पर इसी शॉट को दोहराने की कोशिश में वे लांग ऑन पर ख्‍वाजा के हाथों लपके गए. जवाब में 25  ओवर के बाद भारत का स्‍कोर 4 विकेट खोकर 122 रन था और शेष 25 ओवर में टीम को 151 रन की जरूरत थी.

रोहित को अपनी पारी में दो जीवनदान मिले. 25वें ओवर में उनका मुश्किल कैच गेंदबाज जंपा से छूटा जबकि जंपा के अगले यानी पारी के 27वें ओवर में उन्‍हें मैक्‍सवेल ने जीवनदान दिया. लगातार विकेट गिरने से भारत के लिए लक्ष्‍य मुश्किल होता जा रहा था. अंतिम स्‍थापित जोड़ी के तौर पर रोहित शर्मा के साथ केदार जाधव क्रीज पर थे.29वें ओवर में लेग स्पिनर जंपा ने रोहित शर्मा (56 रन, 89 गेंद, चार चौके) को विकेटकीपर कैरी से स्‍टंप कराकर मैच में भारत की संभावनाओं को करारा झटका दिया. एक ओवर बाद जंपा ने जडेजा (0) को इसी अंदाज में आउट किया. भारतीय टीम के छह विकेट गिर चुके थे और जीत लगभग निश्चित हो चुकी थी.भारत के 150 रन 33.1 ओवर में पूरे हुए, रन रेट हालांकि ठीक था लेकिन मुश्किल यही थी कि भारत के छह विकेट इस दौरान गिर चुके थे.35 ओवर के बाद भारत का स्‍कोर 6 विकेट खोकर 158 रन था. इसके बाद जाधव ने भुवनेश्‍वर के साथ मिलकर 40 ओवर में स्‍कोर को 178 रन तक पहुंचा दिया.जाधव की देखादेखी भुवनेश्‍वर ने भी अगले ओवर में छक्‍का लगाया. भारत का स्‍कोर अब तेजी से बढ़ रहा था.भारतीय टीम के 200 रन 42.5 ओवर में पूरे हुए.भुवनेश्‍वर तो मानो अपनी बैटिंग क्षमता को लेकर लोगों की धारणा गलत साबित करने को आमादा थे. उन्‍होंने 45वें ओवर में तेज गेंदबाज रिचर्डसन को छक्‍का जमाया. भारतीय बल्‍लेबाजों के हर शॉट पर स्‍टेडियम में खेलप्रेमियों को शोर बढ़ता जा रहा था.45 ओवर के बाद भारत का स्‍कोर 6 विकेट खोकर 214 रन है, आखिरी 5 ओवर में टीम को जीत के लिए 59 रन की दरकार थी.जाधव और भुवनेश्‍वर कुमार की पारी का अंत लगातार गेंदों पर हो गया. 46वें ओवर की आखिरी गेंद पर कमिंस ने भुवनेश्‍वर (46 रन, 54 गेंद, तीन चौके और दो छक्‍के) को फिंच के हाथों कैच करा दिया जबकि अगले ओवर की पहली गेंद पर रिचर्डसन ने केदार जाधव (44 रन, 57 गेंद, चार चौके और एक छक्‍का) को मैक्‍सवेल से कैच करा दिया. भारत की हार अब तय हो चुकी थी. भारत के आखिरी दो विकेट मोहम्‍मद शमी और कुलदीप यादव के रूप में गिरे. पूरी 50वें ओवर की आखिरी गेंद पर 237 रन बनाकर आउट हो गई. ऑस्‍ट्रेलिया के लिए एडम जंपा ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए. कमिंस, रिचर्डसन और स्‍टोइनिस को दो-दो विकेट मिले.

ऑस्‍ट्रेलिया पारी: ख्‍वाजा ने जमाया शतक, हैंड्सकोंब ने अर्धशतक

इससे पहले, टॉस जीतकर बैटिंग के लिए उतरी ऑस्‍ट्रेलिया टीम को उस्‍मान ख्‍वाजा और एरॉन फिंच ने तेज शुरुआत दी. पहले छह ओवर में ही स्‍कोर बिना विकेट खोए 38 रन तक पहुंच गया था. इस दौरान ख्‍वाजा ज्‍यादा आक्रामक थे. भुवनेश्‍वर की ओर से फेंके गए पारी के पहले ओवर में ख्‍वाजा ने चौका लगाकर टीम का खाता खोला. दूसरे छोर से आए शमी के ओवर में भी उनके चौके सहित 5 रन बने. भुवी के तीसरे ओवर में फिंच और ख्‍वाजा ने एक-एक चौके सहित 10 रन जोड़े.पांच ओवर के बाद स्‍कोर बिना विकेट खोए 30 रन था.कप्‍तान विराट कोहली सातवें ओवर में जसप्रीत बुमराह को बॉलिंग के लिए लेकर आए.10 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर 52 रन तक पहुंच गया था. बुमराह के आने से ऑस्‍ट्रेलिया की रनगति में कुछ  कमी तो आई लेकिन शुरुआती 10 ओवर तक यह साझेदारी टूट नहीं पाई थी. 12वें ओवर में कुलदीप यादव आक्रमण पर लाए गए लेकिन उनकी तीसरी गेंद पर ख्‍वाजा ने छक्‍का जमा दिया. ऑस्‍ट्रेलियाई ओपनरों की रणनीति कुलदीप से सेटल होने का मौका दिए बगैर ‘हमला’ बोलने की थी.15वें ओवर में रवींद्र जडेजा बॉलिंग पर लाए गए और उन्‍होंने अपने पहले ही ओवर में फिंच (27 रन, 43 गेंद, चार चौके) को बोल्‍ड करके टीम को सफलता दिला दी. 15 ओवर के बाद स्‍कोर एक विकेट खोकर 77 रन था.ख्‍वाजा का वनडे में आठवां अर्धशतक 48 गेंदों पर छह चौकों और एक छक्‍के की मदद से पूरा हुआ.ऑस्‍ट्रेलिया के 100 रन 19.1 ओवर में हैंड्सकोंब के चौके के साथ पूरे हुए. 20 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर एक विकेट खोकर 105 रन था. फिंच के आउट होने के बावजूद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर मजबूती से आगे बढ़ता जा रहा था. 25 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर एक विकेट खोकर 138 रन था.

25 ओवर के बाद भी ख्‍वाजा और हैंड्सकोंब की शानदार बल्‍लेबाजी जारी रही. ऑस्‍ट्रेलिया के 150 रन 26.5 ओवर में पूरे हुए. ख्‍वाजा ने कोटला स्‍टेडियम में भी शानदार बल्‍लेबाजी करते हुए वनडे करियर और सीरीज में अपना दूसरा शतक बनाया. उनका सैकड़ा 102 गेंदों पर 10 चौकों और दो छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ. हालांकि इसके बाद ख्‍वाजा (100 रन, 106 गेंद, 10 चौके और दो छक्‍के) ज्‍यादा देर नहीं टिके और भुवनेश्‍वर की गेंद पर कप्‍तान विराट कोहली को कैच थमा बैठे. अगले ओवर में भारत, नए बल्‍लेबाज ग्‍लेन मैक्‍सवेल (1) का विकेट भी लेने में सफल रहा. दो विकेट जल्‍दी-जल्‍दी गिरने से भारतीय समर्थक उत्‍साह से भर गए थे. मैक्‍सवेल का कैच जडेजा की गेंद पर कप्‍तान कोहली ने ही लपका. हैंड्सकोंब का अर्धशतक 55 गेंदों पर चार चौकों की मदद से पूरा हुआ .35 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 179 रन था. जल्‍द ही ऑस्‍ट्रेलिया को सेट हो चुके हैंड्सकोंब (52 रन, 60 गेंद, चार चौके) का विकेट गंवाना पड़ा. उन्‍हें शमी ने विकेटकीपर ऋषभ पंत से कैच कराया. क्रीज पर अब दो नए बल्‍लेबाज मार्कस स्‍टोइनिस और एश्‍टन टर्नर थे. तीन विकेट सात रन के अंतर से गिरने के कारण ऑस्‍ट्रेलिया की रन गति गिर गई थी. टीम के 200 रन 39.2 ओवर में पूरे हुए. 40 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर चार विकेट खोकर 202 रन था.42वें ओवर में कुलदीप यादव ने चौथे वनडे में धमाकेदार बैटिंग करके ऑस्‍ट्रेलिया को जीत दिलाने वाले टर्नर (20 रन, 20 गेंद, दो चौके और एक छक्‍का) को आउट करके कप्‍तान विराट कोहली को बहुत बड़ी राहत दी. अब ऑस्‍ट्रेलिया के न केवल विकेट जल्‍दी-जल्‍दी गिर रहे थे बल्कि उसकी रनगति भी गिर रही थी.45वें ओवर में भुवनेश्‍वर ने स्‍टोइनिस (20) को बोल्‍ड करके भारतीय खेमे में खुशी भर दी. 45 ओवर के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का स्‍कोर 6 विकेट खोकर 228 रन था. अगली बारी शमी की थी जिन्‍होंने कैरी (3) को पंत से कैच कराकर ऑस्‍ट्रेलिया को एक और झटका दे डाला.बुमराह का 48वां ओवर महंगा रहा , इसमें ओवरथ्रो से मिले चौके सहित 19 रन बने. ओवर में रिचर्डसन ने तीन चौके भी लगाए.ऑस्‍ट्रेलिया का आठवां विकेट पैट कमिंस (15)और नौवां विकेट पारी की आखिरी गेंद पर जे. रिचर्डसन (29)के रूप में गिरा. जहां कमिंस को भुवनी ने अपनी गेंद पर कैच किया, वही रिचर्डसन रन आउट हुए. नाथन लियोन 1 रन बनाबर नाबाद रहे. भारत के लिए भुवनेश्‍वर कुमार ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए. शमी और रवींद्र जडेजा को दो-दो विकेट मिले.


Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें